Assembly Elections: बंगाल में ओवैसी करेंगे ममता का नुकसान? अल्पसंख्यकों पर TMC की पकड़ हो सकती है कमजोर

कोलकाता:असदुद्दीनओवैसीकीपार्टीऑलइंडियामजलिस-ए-इत्तेहादुलमुस्लिमीन(एआईएमआईएम)केपश्चिमबंगालविधानसभाचुनावमेंमैदानमेंउतरनेपरतृणमूलकांग्रेसकीअल्पसंख्यकोंपरपकड़कमजोरहोसकतीहै.बिहारविधानसभाचुनावमेंपांचसीटेजीतनेकेबादपार्टीनेबंगालमेंकिस्मतआजमानेकामनबनायाहै.

ममताबनर्जीकोमिलाहै अल्पसंख्यकमतोंकाफायदा

राज्यमें2011मेंवाममोर्चेकोहरानेकेबादसेममताबनर्जीकेनेतृत्ववालीपार्टीकोहीअल्पसंख्यकमतोंकाफायदामिलाहै.एआईएमआईएमकेइसफैसलेपरपार्टीकाकहनाहैकिओवैसीकामुसलमानोंपरप्रभावहिंदीऔरउर्दूभाषीसमुदायोंतकसीमितहै,जोराज्यमेंमुस्लिममतदाताओंकासिर्फछहप्रतिशतहै.

पश्चिमबंगालमें30प्रतिशतमुस्लिममतदाताहैं.कश्मीरकेबादसबसेअधिकमुस्लिममतदाताबंगालमेंहीहैं.अल्पसंख्यक,विशेषकरमुसलमान,294सदस्यीयविधानसभामेंलगभग100-110सीटोंपरएकनिर्णायककारकहैं,जो2019तक,अपनेप्रतिद्वंद्वियोंकेखिलाफतृणमूलकेलिएहमेशाफायदेमंदरहेहै.इनमेंसेअधिकांशनेपार्टीकेपक्षमेंमतदानकियाहै,जोभगवादलकेविरोधमेंहमेशाउनकेलिए‘‘विश्वसनीय’’रहेहैं.

एआईएमआईएमकेचुनावलड़नेसेबदलेंगेसमीकरण

वरिष्ठमुस्लिमनेताओंकाकहनाहैकिएआईएमआईएमकेयहांचुनावलड़नेसेसमीकरणयकीननबदलसकताहै.मिशनपश्चिमबंगालकेलिएतेलंगानास्थितपार्टीकीविस्तृतयोजनाकेबारेमेंबातकरतेहुए,इसकेराष्ट्रीयप्रवक्ताअसीमवकारने‘पीटीआई-भाषा’कोबतायाकिपार्टीनेराज्यमें23जिलोंमेंसे22मेंअपनीइकाईयांस्थापितकीहैं.

वकारनेकहा,‘‘हमबंगालमेंविधानसभाचुनावलड़ेंगे.हमरणनीतितैयारकररहेहैं.हमनेराज्यके23जिलोंमेंसे22मेंअपनीमौजूदगीदर्जकरालीहै.हमेंलगताहैकिएकराजनीतिकपार्टीकेतौरपरहमराज्यमेंमजबूतपकड़बनासकतेहैं.’’एआईएमआईएमनेपिछलेसालनवम्बरमेंराष्ट्रीयनागरिकपंजी(एनआरसी)केखिलाफरैलीमेंममताबनर्जीपरपरोक्षरूपसेनिशानासाधनेकेबादसेहीदोनोंपार्टियोंकेबीचजंगशुरूहोगईथी,जोअबचुनावीमैदानतकपहुंचगईहै.