अस्पतालों में भर्ती नहीं कर रहे मरीज, कोविड हास्पिटल भी फुल

जागरणसंवाददाता,मथुरा:बढ़तेकोरोनासंक्रमणकेकारणस्वास्थ्यसेवाएंबिगड़तीजारहीहैं।बेकाबूहोतेहालातकेबीचज्यादातरनिजीचिकित्सककिसीभीबीमारीकेमरीजोंकोभर्तीनहींकररहेहैं।केवलआनलाइनकंसल्टकरदवाएंलिखीजारहीहैं।ऐसेमेंमरीजोंकादर्दऔरबढ़रहाहै।जोमरीजदिल्लीऔरफरीदाबादइलाजकरानेगएथे,वहांभीबेडफुलहोनेकेकारणलौटाएजारहेहैं।

कोरोनाकीदूसरीलहरटापगियरमेंदौड़रहीहै।इसकीचपेटमेंअबतक9500सेअधिकब्रजवासीआचुकेहैं।1792एक्टिवकेसकीसंख्याहोगईहै।आलमयहहैकिकेडीमेडिकलकालेजमें141औरकेएममेडिकलकालेजमें133मरीजभर्तीहैं।यहसंख्यावहहै,जिनकोस्वास्थ्यविभागकीओरसेभर्तीकियागयाहै।करीबइतनेहीमरीजनिजीखर्चेपरयहांअपनाइलाजकरारहेहैं।इसकेअलावामिलिट्रीहास्पिटलमें13मरीजभर्तीहैं।नयतिऔरआरकेएसएममें24मरीजभर्तीहैं।आलमयहहैकिइनअस्पतालोंमेंअबऔरमरीजभर्तीकरनेकेलिएजगहनहींहै।शहरमें250सेअधिकनर्सिंगहोमऔरहास्पिटलहैं।इनमेंसेअधिकांशनेमरीजोंकोभर्तीकरनाबंदकरदियाहै।-मनमानीकररहेअस्पताल:

शहरकेअस्पतालअबमनमानीकररहेहैं।मरीजोंकोपूरीतरहसेइलाजभीमुहैयानहींकरायाजारहाहै।चिकित्सकवीडियोकालयाफिरफोनपरपरामर्शदेरहेहैं।अस्पतालपहुंचनेकेबादभीस्टाफहीदवादेरहाहै।हालांकिसीएमओडा.रचनागुप्ताकाकहनाहैकिजिलाअस्पतालऔरवृंदावनकेसंयुक्तअस्पतालमेंमरीजोंकोहरतरहकीसुविधामुहैयाकराईजारहीहैं।जिलाअस्पतालमेंदसबेडकोविडकेमरीजोंकेलिएआरक्षितकिएगएहैं।