अस्पताल में ड्यूटी का कोई निर्धारित समय नहीं

सिद्धार्थनगर:प्रदेशशासनमेंस्वास्थ्यमंत्रीबनाएगएजयप्रतापसिंहएकतरफस्वास्थ्यव्यवस्थामेंसुधारकेलिएअस्पतालमेंबेहतरसुविधाकेलिएप्रयासरतहैंतोवहींइनकेगृहक्षेत्रकेअस्पतालखुदबदहालहैं।कहींकर्मचारियोंकीमनमानीतोकहींलचरव्यवस्थाबेहतरस्वास्थ्यसुविधाकीचिताकोचुनौतीदेरहीहै।बांसीब्लाकक्षेत्रकेएकडेंगवामेंस्थापितप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रकेभ्रमणपरस्थितितोकाफीदयनीयदिखी।इसअस्पतालकेबंदहोनेकासमयदोपहर2बजेतोनिश्चितपरखुलनेकाकोईसमयनहींहै।सोमवारको8.10बजेतकअस्पतालपरतालाहीलटकतारहा।अस्पतालमेंकिसीकर्मीकेबजायएकरिक्शाचालककानिवासदिखाईदिया।रात्रिमेंकोईभीकर्मीयहांनिवासनहींकरता।यानीक्षेत्रवासियोंकोसुबहजबभीअस्पतालखुलताहैतबसेलेकरअपराह्न2बजेतकहीचिकित्सीयसुविधामिलपातीहै।

मंगलवारकोसुबह8बजेइसअस्पतालकेमुख्यगेटपरतालालटकतारहा।आवासकेएककक्षमेंगांवनिवासीबाबूलालजोरिक्शाचालकअपनेरिक्शेकानिवासकरतामिला।बाबूलालअस्पतालकेकक्षकोअपनाआवासबनारखाहैउसीकेसामनेभोजनपकारहाथा।पूछनेपरउसनेकहाकियहींरहकरअस्पतालकीरखवालीकरताहूं।कहायहांकोईकर्मचारीरात्रिकालीनरखवालीकेलिएविभागसेतैनातनहींहै।अस्पतालगेटसेचिकित्साधिकारीडा.मो.असलमकीगाड़ीपरिसरमेंदाखिलहुए।उनकेसाथवार्डब्वायअरुणकुमारभीपहुंचगए।वार्डब्वायनेअस्पतालकेअंदरजानेवालेचैनलगेटकातालाखोलाऔरखुदझाड़ूलेकरबरामदेआदिकीसफाईमेंजुटगए।यहांसफाईकर्मीकीक्यातैनातीनहींहैपूछनेपरकोईजवाबनहींमिला।इसीदौरान8:20परबुखारसेपीड़ितगांवकेहीबुजुर्गदलबहादुरपहुंचे,औरचिकित्सकसेबोलेकिडॉक्टरसाहबबाहरकीदवालिखदो,अस्पतालकीदवासेफायदानहींहोरहा।चिकित्सकनेकहाकिदवाहमबाहरकीनहींलिखसकते।

फार्मासिस्टसन्तोषमिश्रअस्पतालमेंदाखिलहुए।बिनाकुछबोलेवहसीधेउपस्थितिपंजिकापरहस्ताक्षरकिएऔरअपनेकक्षकीओरचलदिये।अस्पतालपरमौजूदचिकित्सकनेभीउनसेविलंबसेआनेकाकारणनहींपूछा।अस्पतालमेंतैनातस्वीपरजगदीशपरिसरमेंबड़ेहीधीरेधीरेदाखिलहोतेहैं।वहअंदरजातेहीहैंकि9.45परएनएमएउपेन्द्रनारायणचौबेभीअस्पतालपरपहुंचजातेहैं।सभीसीधेचिकित्सककेपासरखेउपस्थितिरजिस्टरकोउलटे-पलटऔरअपनेनामकेसामनेहस्ताक्षरबनाया।इन्हेंभीचिकित्सकनेलेटआनेपरकुछनहींकहा।अबसुबहके10बजचुकेथेऔरअस्पतालपरअबतकमात्रदोमहिलामरीजहीआसकीथी।जिन्हेंचिकित्सकनेखुजलीवकमजोरीकीदवादी।इसदिन2बजेतककुल45मरीजहीदेखेगए।तत्पश्चातनित्यकीभांतिअस्पतालमेंतालालगाकरउक्तचिकित्सकवकर्मीवापसलौटगए।फिलहालजोभीहोअस्पतालमेंकिसीभीप्रकारकीजांचकीसुविधामरीजोंकेलिएनहीहै।अस्पतालभवनवबनेआवासोंकीछतबारिशमेंटपकतीहै।फर्शवखिड़कियांटूटीहुईहैं।आवासकेशौचालयनिष्प्रयोज्यहैं।पानीकीटंकीसिर्फशोफीसबनकरपड़ीहै।पेयजलकेलिएतीनदिनपूर्वइंडियामार्कदोहैंडपंपलगाहै।बिजलीकीवायरिगजर्जरहै।समस्याकीरिपोर्टकरनेपरठेकेदारसप्ताहपूर्वइसकीजांचकरनेआयाथा।लैबकेलिएबाहरसेसामानलाकररखदियागयाहै।कबलगेगामालूमनहीहै।अस्पतालपरिसरमेंजहांगन्दगीकाअंबारलगाहुआहैवहींघासफूसउगनेसेयहांजहरीलेकीड़ोंकेकाटनेकाडरभीसतारहाहै।स्वच्छताअभियानपूरीतरफयहांफ्लॉपहै।अस्पतालमेंदोचिकित्सककीतैनातीहैइसमेंडाधर्मेंद्रयादवअनुपस्थितरहेऔरडामो.असलमकीउपस्थितिरही।फार्मासिस्टकाएकपदसृजितहैजोलेटसेउपस्थितहुए।बीएचडब्लूमहिला1पदपरनर्वदात्रिपाठीकीतैनातीहैंजोअवकाशपररहीं।एनएमए,वार्डब्वाय,स्वीपरस्टाफनर्सवएलएकेएकपदसृजितहैं।जिसमेंस्टाफनर्सरेनूप्रसूताअवकाशपरथीऔरएलएकोकहींऔरअटैचकियागयाहै।यहांपरविभागकाकोईवार्डब्वायतैनातनहींहै।कांट्रैक्टवेसपरहीइसपदपरतैनातीकीगईहै।तैनातवार्डब्वायअरुणकुमार15मार्चसेकार्यकररहेपरइन्हेंअभीतकमानदेयकेरूपमेंएकभीपैसानहींमिलसकाहै।इससेउसकेपरिवारकेसामनेभुखमरीकासंकटउत्पन्नहोगयाहै।आवासकेछतसेपानीटपकनेवफर्शआदिटूटनेतथामूलभूतसुविधाओंकेनहोनेसेस्टाफरात्रिनिवासयहांनहींकररहेहैं।रहीबातदेरीसेअस्पतालखुलनेकीतोआजहीविलंबहुआहै।दवाइयांइससमयउपलब्धहैं।जोमरीजोंकोमर्जकेहिसाबसेदीजातीहै।