अंतरिक्ष में उगाई जा सकेंगी सब्जियां, अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर मिले दो नए बैक्टीरियल स्ट्रेन

हैदराबाद,आइएएनएस।इसबातकीसंभावनाबनतीदिखरहीहैकिअंतरिक्षयात्रियोंकोअपनीलंबीयात्राओंमेंभीताजीसब्जियांमिलसकतीहैं।इसकीउम्मीदअंतरराष्ट्रीयअंतरिक्षस्टेशन(आइएसएस)परबैक्टीरियाकेनएस्ट्रेनकीखोजसेपैदाहुईहै।येबैक्टीरियलस्ट्रेनआइएसएसपरपौधोंकेउगनेमेंमददगारबताएजारहेहैं।यहबातयूनिवर्सिटीऑफहैदराबादऔरअमेरिकीअंतरिक्षएजेंसीनेशनलएयरोनाटिक्सएंडस्पेसएडमिनिस्ट्रेशन(नासा)केजेटप्रोप्लशनलैबोरेट्री(जेपीएल)औरअन्यसंस्थानोंकेअध्ययनमेंसामनेआईहै।

यूनिवर्सिटीऑफहैदराबादऔरनासाकेविज्ञानियोंनेकियाशोध

यहअध्ययनफ्रंटियर्सइनमाइक्रोबायोलॉजीनामकजर्नलकेताजाअंकमेंप्रकाशितहुआहै।इसशोधदलमेंनासाकेजेपीएलमेंकार्यरतडॉ.कस्तुरीवेंकटेश्वरन,व‌र्ल्डक्वांटइनिशिएटिवफॉरक्वांटिटेटिवप्रिडिक्शनकेसीसीवांगतथायूनिवर्सिटीऑफहैदराबादकेप्रोफेसरअप्पारावपोडिलीऔरसीएसआइआरकेविज्ञानीशामिलहैं।खोजेगएनएबैक्टीरियलस्ट्रेनमेथिलोबैक्टीरियापरिवारसेहैं,जोआइएसएसकेदोसततउड़ानोंसेअलग-अलगस्थानोंसेएकत्रकिएगएहैं।इनमेंसेएकस्ट्रेनकीपहचानमिथाइलोरुब्रमरोडेशियानमकेरूपमेंकीगई,अन्यतीनकोपहलेकभीनहींदेखागयाथा।

पौधोंकेविकासमेंमानेजारहेमददगार

मेथिलोबैक्टीरियमप्रजातियांनाइट्रोजननिर्धारण,फॉस्फेटमेंघुलने,विषमपरिस्थितियोंकोसहनकरने,पौधेकेविकासकोबढ़ावादेनेऔरइनकेरोगजनकों(पैथोजेन्स)केखिलाफजैविकनियंत्रणगतिविधिमेंशामिलहोतेहैं।शोधकर्ताओंनेप्रसिद्धभारतीयजैवविविधताविज्ञानीडॉ.अजमलखानकेसम्मानमेंनईप्रजातिकेइसबैक्टीरियाकोमेथिलोबैक्टीरियमअजमलीनामरखनेकाप्रस्तावदियाहै।डॉ.कस्तूरीवेंकटेश्वरनकाकहनाहैकिअंतरिक्षमेंफसलोंकेउगनेऔरउनकेविकासकेलिएस्ट्रेनमेंजैव-तकनीकीरूपसेउपयोगीअनुवांशिकताहोसकतीहै।विषमपरिस्थितियोंमेंपौधोंकेविकासकोबढ़ावादेनेमेंमददकरनेवालेसूक्ष्मजीवआवश्यकहै।

उनकाकहनाहैकिचूंकिहमारेसमूहकेपासबैक्टीरियाकीमददसेखेतीकरनेकीविशेषज्ञताहै,इसलिएहमेंनासाकेस्पेसबायोलॉजीप्रोग्रामकेद्वाराबैक्टीरियाकीउपस्थितिकेलिएअंतरराष्ट्रीयअंतरिक्षस्टेशनकासर्वेक्षणकरनेकाकामसौंपागयाहै।मालूमहोकिआइएसएसपरएकसाफ-सुथरावातावरणहोताहै।क्रूकीसुरक्षासर्वोच्चप्राथमिकताहोतीहै।इसलिएमानव/पौधोंकेरोगजनकोंकोसमझनामहत्वपूर्णहै,लेकिनइसेनएलाभकारीसूक्ष्मजीवजैसेमेथिलोबैक्टीरियमअजमलीकीभीआवश्यकताहै।

फिलहालचलरहीनिगरानी

मिशनकेहिस्सेकेतहतआइएसएसपरआठस्थानोंपरबैक्टीरियाकेविकासकीनिगरानीकीजारहीहै,जोपिछलेछहवर्षोंसेलगातारजारीहै।आइएसएससेसैकड़ोंबैक्टीरियाकेनमूनोंकाअभीतकविश्लेषणकियाजाचुकाहै,लगभग1,000नमूनेअंतरिक्षस्टेशनपरविभिन्नअन्यस्थानोंसेएकत्रकिएगएहैं,लेकिनयेपृथ्वीपरवापसपहुंचनेकीप्रतीक्षाकररहेहैं,जहांउनकीगहनजांचकीजासकतीहै।लेकिनशोधकर्ताचाहतेहैंकिविश्लेषणकेलिएनमूनोंकोपृथ्वीपरलानेकेबजाय,एकएकीकृतमाइक्रोबियलनिगरानीप्रणालीकीआवश्यकताहै,जिससेकिआणविकतकनीकोंकाउपयोगकरकेअंतरिक्षमेंनमूनेएकत्रकरउनकाविश्लेषणकियाजासके।