अन्नदाता को रक्तदाता बना कायम की मिसाल

बाराबंकी:देशकोआजादीदिलानेवालेस्वतंत्रतासंग्रामसेनानीवबलिदानीतोअबजिलेमेंनहींरहे,परउनकेबताएआदर्शोंपरचलकरकुछलोगसमाजकोभूखवबीमारीजैसीसमस्याओंसेमुक्तकरनेमेंअपनासहयोगदेरहेहैं।ऐसेलोगोंमेंनगरकेनिकटबंधौलीनिवासीमुकेश¨सहकानामअहम्हैं।पेशेसेपेंटरमुकेश¨सहनेअन्नदाताकिसानोंकोउनकाहकवसम्मानदिलानेकेलिएभारतीयकिसानयूनियनजैसेसंगठनकासहारालिया।संगठनसेजुड़ेकिसानोंकोकिसानसमस्याओंतकसीमितनरखकरसामाजिकसरोकारसेजोड़ा।मुकेशकीप्रेरणासेहरमाहकी15तारीखकोजिलाचिकित्सालयमेंदो-तीनदर्जनकिसानरक्तदानकरतेहैं।हरसालगरीबकन्याओंकाविवाहकरानेजैसामहाआयोजनभीमुकेश¨सहकरतेहैंताकिकिसीकीबेटीकेहाथसूनेनरहें।अबतककरीबदोहजारकन्याओंकाविवाहकरवाचुकेहैं।

मुकेश¨सहनेनेत्रदानवदेहदानकरनेकेलिएकिसानोंकोइसकदरप्रेरितकियाकिकरीबढाईहजारलोगोंनेदेहदानवपांचहजारसेज्यादालोगोंनेनेत्रदानकासंकल्पपत्रभरा।मृत्युकेउपरांतएकदर्जनदेहदानियोंकेशवलखनऊके¨कगजार्जमेडिकलकॉलेजमेंशोधकेलिएपहुंचचुकेहैं।किसानोंकेरक्तदानकेकारणअबजिलाचिकित्सालयमेंरक्तकीकमीसेकोईमरतानहींहैं।भाकियूकार्यकर्ताओंकारक्तदानकेलिएपंजीकरणभीहै।पंजीकृतभाकियूकार्यकर्ताआवश्यकतपड़नेपररक्तदानकरनेपहुंचजातेहैं।

मुकेश¨सहकाकहनाहैकिआजादीके70सालबादभीदेशमेंभुखमरी,बेकारी,अपराधजैसीसमस्याएंहमेंअपनीगुलामबनाएहुएहैं।जबतक¨जदाहूंइससेसमाजकोराहतदिलानेलिएकामकरतारहूंगा।