अलीगढ़ में जिंदगी से खेल रहे झोलाछाप, ऐसे होगी सख्त कार्रवाई

अलीगढ़(जेएनएन)।शहरसेलेकरदेहाततकझोलाछापलोगोंकीजिंदगीसेखेलरहेहैं।आठवीं-दसवींपासयाबिनाडिग्र्रीकेहीयेलोगदुकानखोलकरबैठगएहैं।ऐसेझोलाछापोंपरस्वास्थ्यविभागअबकार्रवाईशुरूकरेगा।सीएमओनेइसकेलिएनोडलअधिकारीहीनहीं,बाबुओंकोभीबदलदियाहै।

आपरेशनतककररहेझोलाछाप

एकअनुमानकेमुताबिकजनपदमें2000सेअधिकझोलाछापहैं।सामान्यहोयागंभीरमरीज,येलोगहरमरीजकास्वागतग्लूकोजकीड्रिपलगाकरकरतेहैं।ऐसेलोगोंनेक्लीनिकहीनहीं,नर्सिंगहोमतकखोलरखेहैं।मरीजकोलंबेसमयतकइलाजकेनामपररोकेरखाजाताहैऔरजबमामलाबिगडऩेलगताहैतोआनन-फाननरेफरकरदेतेहैं।यहीनहीं,कईहॉस्पिटलमेंझोलाछापमरीजोंकाऑपरेशनतककररहेहैं।ऐसेकईमामलोंकीजांचभीलंबितहैं।

अपरमुख्यचिकित्साअधिकारीकरेंगेकार्रवाई

प्रभावीकार्रवाईनहोनेपरसीएमओनेनोडलअधिकारीडॉ.दुर्गेशकुमारसेयहजिम्मेदारीवापसलेलीहै।अपरमुख्यचिकित्साअधिकारीडॉ.पीकेशर्माकोझोलाछापोंकेखिलाफकार्रवाईशुरूकरनेकेनिर्देशदिएगएहैं।शहरमेंप्रधानसहायकविनयकांतअग्निहोत्रीवदेहातमेंप्रदीपचौहानसहयोगीरहेंगे।डॉ.शर्मानेबतायाकिजल्दहीझोलाछापोंकेखिलाफछापेमारीशुरूकीजाएगी।बिनारजिस्ट्रेशनकेक्लीनिकयाहॉस्पिटलचलानेवालेचिकित्सकोंकोभीझोलाछापकीश्रेणीमेंरखतेहुएकड़ीकार्रवाईहोगी।इसकेलिएरणनीतितैयारकीजारहीहै।