अधिकारियों की उदासीनता किसानों पर पड़ेगी भारी

जागरणसंवाददाता,जौनपुर:सरकारकिसानोंकीआयदोगुनीकरनेकोलेकरतमाममहत्वाकांक्षीयोजनाएंचलारहीहै।धानकाअधिकमूल्यमिलेइसकेलिएसमर्थनमूल्यबढ़ाकरकेंद्रोंकेमाध्यमसेप्राथमिकताकेआधारपरखरीदकरनेकानिर्देशदियागयाहै,जबकिजिलेमेंजिम्मेदारअधिकारीशासनकीमंशापरपानीफेररहेहैं।खरीदशुरूहोनेमेंमहजदोदिनबचेहैं।अभीतकलक्ष्यकेअनुसारनतोकेंद्रोंकानिर्धारणकियागयाऔरनहीबोरेभेजेगएहैं।यहउदासीनताअन्नदाताओंपरभारीपड़ेगी।

जनपदमेंनौएजेंसियांधानकीखरीदकरतीथीं।किसानोंकीसुविधाकेलिए137केंद्रपिछलेसालबनाएगएथे।इससालफसलबेहतरहोनेऔरसमर्थनमूल्यबढ़नेसेकिसानउत्साहितहैं।इसेदेखसरकारने85हजारटनसेलक्ष्यबढ़ाकरएकलाख33हजारपांचसौटनकरदियाहै,लेकिनकेंद्रोंकीसंख्या137सेघटाकर102करदीगईहै।पूर्वांचलकेजनपदोंमेंधानकीखरीदएकनवंबरसेशुरूहोगीलेकिनजनपदमेंतैयारीअभीअधूरीहै।शासनसेलक्ष्यकेसापेक्षसिर्फ69केंद्रहीअभीतकखुलपाएहैं।अनियमितताकेकारणतीनएजेंसियोंकीखरीदपरशासनसेरोकलगादीगईहै।एफपीओसमेतकईएजेंसियोंकेभेजेगएप्रस्तावपरभीबैठककरकेअभीतकस्वीकृतिप्रदाननहींकीगईहै।दोएजेंसियोंकानहींआयाप्रस्ताव

जौनपुर:धानखरीदकेलिएशासननेजहांतीनएजेंसियोंकोकालीसूचीमेंडालदियाहै,वहींदोएजेंसियोंयूपीपीसीयूवयूपीएसएसकाप्रस्तावहीनहींआयाहै।केंद्रोंकीसंख्याकमहोनेपरउत्पादभेजनेमेंकिसानोंकोपरेशानीहोगी।धानबेचनेको9500किसानोंनेकरायापंजीकरण

जौनपुर:सरकारनेबिचौलियोंपरशिकंजाकसनेकेलिएआनलाइनपंजीकृतकिसानोंसेहीधानखरीदकरनेकीव्यवस्थालागूकीहै।इसकेतहतकिसानोंकोअपनाधानबेचनेसेपहलेविभागकेपोर्टलपरअपनाआनलाइनपंजीकरणकरानाहै।पंजीकरणकाकामकिसानकिसीभीजनसुविधाकेंद्रयासाइबरकैफेसेकरासकतेहैं।जनपदमेंअबतक9500किसानोंनेपंजीकरणकरालियाहै।

किसानोंकीसुविधाकेलिएसरकारसे102केंद्रखोलनेकालक्ष्यहै।इसमें69केंद्रबनादिएगएहैं।कईएजेंसियोंकेप्रस्तावआएहैं।बैठककरइन्हेंकेंद्रबनादेनेपरसंख्यासौसेअधिकहोजाएगी।जिलेमेंजोबोरेकास्टाकथाउसेकेंद्रोंपरभेजाजारहाहै।शीघ्रहीआवश्यकताकेअनुरूपकोलकातासेबोरेआजाएंगे।एकनवंबरसेपूर्वनिर्धारित102केंद्रखोलदिएजाएंगे।

-एनकेपाठक,उपसंभागीयविपणनअधिकारी।