अब पीड़ा का पर्याय नहीं बनेगा माहवारी, बेहिचक चर्चा करेंगी बेटियां

संसू,बहराइच:अबमाहवारीबेटियोंकेपीड़ाकापर्यायनहींहोगा,बल्किवेबेहिचकचिकित्सकोंसेचर्चाकरसकेंगी।माहवारीकोलेकरफैलीभ्रांतियोंवमहिलाओंवकिशोरियोंकोमाहवारीप्रबंधनकीसहीजानकारीकेलिएजागरूककियाजाएगा।विश्वमाहवारीदिवसपरइसमिथककोतोड़नेवबेटियोंकाहौसलाबढ़ानेकेलिएइट्सटाइमफॉरएक्शनथीमकासहारालियाजाएगा।

यूनीसेफकीरिपोर्टपरनजरडालेतोदेशमेंमाहवारीआनेपरदोकरोड़सेज्यादाबालिकाएंस्कूलजानाछोड़देतीहैं।महिलाएंभीइसमुद्देपरबातकरनेकोझिझकतीहैं।अनदेखी,अज्ञानतावखुलेतौरपरखुदसेजुड़ेसंवेदनशीलमुद्दोंपरचर्चानकरपानाउन्हेंगंभीरबीमारियोंकीओरधकेलरहाहै।

डॉ.अंजूश्रीवास्तवबतातीहैंकिमाहवारीकेदौरानउचितप्रबंधनकरनेसेकिशोरियांएनीमियाकाशिकारहोजातीहैं।इससेपीआईडीऔरबच्चेदानीकीनलीकेअंदरूनीभागकोक्षतिपहुंचतीहै।इससेबांझपनकाभीमहिलाएंशिकारहोजातीहैं।ऐसेसमयमेंमहिलाओंकोसेनेट्रीनेपकिनप्रयोगकरनाचाहिए।जिलासमन्वयकराकेशगुप्ताबतातेहैंकिअबमासिकधर्मकीकुरीतियोंकोमिटानेकासमयआगयाहै।यहतभीसंभवहै,जबबेटियांवमहिलाएंअपनेस्वास्थ्यकेप्रतिसचेतहोंगी।सीएमओडॉ.एससिंहनेबतायाकिविश्वमाहवारीदिवसकोसफलबनानेकेलिएसभीकेंद्रोंपरगोष्ठीवजागरूकताकार्यक्रमआयोजितहोंगे।इसकारखेंध्यानसमय-समयपरपैड्सबदलेसूतीवढीलेकपड़ेपहनेंगर्मपानीसेस्नानकरेंचिकित्सकसेतत्काललेपरामर्श?