अब नीतीश का झारखंड सीएम को जवाब- बिहार व झारखंड भाई है, हद है कि लोग राजनीतिक फायदे के लिए कुछ भी बोल देते हैं

मुख्यमंत्रीनीतीशकुमारनेकहाकिबिहारऔरझारखंडकेलोगोंमेंएक-दूसरेकेप्रतिपूराप्रेमहै,सम्मानहै।बिहार-झारखंडभाईहै।एकहीपरिवारकेसबलोगहैं।वैसेतोसंपूर्णदेशकेलोगएकपरिवारकेहैं।हदहैकिकुछलोगराजनीतिकफायदेकेलिएकुछभीबोलदेतेहैं।यहबिल्कुलमुनासिबनहींहै।

वेसोमवारकोजनतादरबारकेबादमीडियासेमुखातिबथे।उनसेमगहीऔरभोजपुरीभाषाकोलेकरझारखंडकेमुख्यमंत्रीहेमंतसोरेनकेबयानकेबारेमेंसवालपूछागयाथा।उन्होंनेकहाकिबिहारतोएकथा।यहतो2000मेंबंटान।मगहीऔरभोजपुरीबोलनेवालोंकोझारखंडकेमुख्यमंत्रीद्वारादबंगकहेजानेपरनीतीशकुमारनेकहाकिकोईदबंगनहींहै।

ऐसीबातनहींसोचनीचाहिए।भाषाकोलेकरऐसीसोचठीकनहींहै।अगरकिसीकोकोईराजनीतिकलाभलेनाहै,तोवहअलगबातहै।हमलोगऐसीबातकभीनहींसोचतेहैं।झारखंडकेएक-एकव्यक्तिकेप्रतिबिहारकेलोगोंकीपूरीश्रद्धा-सम्मानहैऔरवहांकेलोगभीबिहारकेबारेमेंयहीसमझरखतेहैं।

सीएमबोले-पहलेलोगझारखंडकामकरनेजातेथे,अबकोईनहींजाताहै

मुख्यमंत्रीनेकहाकिपहलेजबबिहारऔरझारखंडएकथा,तबलोगकामकरनेझारखंडजातेथेलेकिनअबकोईनहींजाताहै।बिहारकाबंटवाराहोनेकेबादबिहारकेलोगोंमेंकाफीमायूसीआगयीथी।झारखंडकेअलगहोजानेकेबादलोगोंकोलगाथाकिबिहारबर्बादहोजायेगा,बिहारमेंकुछनहींबचेगालेकिनयेसबधारणायेंगलतसाबितहुईं।

हेमंतनेकहाथा-झारखंडकाबिहारीकरणक्योंहो?

झारखंडकेमुख्यमंत्रीहेमंतसोरेननेकहाथा-’भोजपुरीवमगहीरीजनललैंग्वेजनहींहै।यहबौरोलैंग्वेजहै।जोलोगइसेबोलतेहैं,वेडॉमिनेटिंगपर्सनहैं।झारखंडकेलोग,कमजोरलोगरहेहैं।मजबूतआदमीकेपैरकेनीचेसभीरहताहै।

इनभाषाओंकोधीरे-धीरेआगेबढ़ायागया।कुछलोगउनकेसाथहुएऔरबादकेदिनोंमेंउनकीभाषाबोलनेलगे।येबिहारकालैंग्वेजहै।मैंपूछताहूंझारखंडकाबिहारीकरणक्यों?सबकोयादहैकिझारखंडआंदोलनकेदौरानआंदोलनकारियोंकीछातीपरपैररखकरमहिलाओंकीइज्जतलूटतेवक्तभोजपुरीमेंकितनीगालियांदीजातीथीं?अभीआंदोलनकारीजिंदाहैं।झारखंडकीजंगभोजपुरी,मगहीकीबदौलतनहींलड़ीगईथी।जंग,यहांकेट्राइबलवरीजनललैंग्वेजकेबूतेलड़ीगईथी।...शेरऔरबकरीकोएकसाथरखदेंगें,तोएकदिनबकरीकोमाराहीजानाहै।’