आम लोगों तक पहुंचने लगा प्रवासियों द्वारा पोषित दशहरी

सुलतानपुर:क्षेत्रमेंकलमीआमकीखेतीलोगकरतेहैं।बागोंकोसालभरसहेजकरलोगकईकिस्मकेआमकेफलतैयारकरतेहैंतथाव्यवसाईयोंकेहाथोंबेंचकरआर्थिकरूपसेमजबूतहोतेहै।इसबारआमकीफसलकोसहेजनेमेंबाहरसेआएप्रवासियोंकीभीअहमभूमिकारहीहै।

लॉकडाउनकेदौरानपरदेससेघरपहुंचेप्रवासीजबस्कूलोंवघरोंमेंक्वारंटाइनहुऐतोउनकेमनमेबागबगीचोंकाखयालआयाऔरवहसबस्कूलसेबागोंमेंपहुंचछोटीसीमड़ईबनाकरवहींक्वारंटाइनहोगये।आमकेफलोंकीरखवालीवसुरक्षाकरउनकीदेखरेखकीऔरअबफलोंकाराजापकनेकोतैयारहैं।जल्दहीखुशबूलोगोंतकपहुचनेवालीहै।

रंगलाईइनकीमेहनत

हनुमानगंजकेसूरजसिंहकेपासदसबीघेकीदशहरीबागहै।जिसमेंअबफलटूटनेलगेहैंइसकीदेखरेखगांवकेहीखालिकमोहम्मदनेकीहै।वहप्रवासीकेरूपमेंआकरखूबमेहनतकीहै।अभियाखुर्दकेरामचंदरपांडेयकेपासभीदसबीघेमेंदशहरी,चौंसा,तोतापरीआदिवैरायटीसेपेड़लदेहें।फलअबपकनेलगेहैं।लोगबागोंमेंपहुंचकरआमकोठेलोंपरलादकरबाजारोंमेंबिक्रीकेलिएलेजारहेहैं।सरायअचल,बेलामोहन,अभियाखुर्द,पखरौलीसहितकईगांवोंमेआमकीफसलअच्छीहुईहै।