आम के फलों को कीटों व रोगों से बचाएं

जासं,आजमगढ़:बहुतेरीफसलोंकीदेखरेखइनदिनोंजरूरीहै।यहसमयआमकीफसलोंकोकीटोंवरोगोंसेबचानेकाहोताहै।किसानदवाकाछिड़कावकरइसेबचासकतेहैं।फल,मक्खीकीटकाप्रकोपमईसेजुलाईमाहतकहोताहै।आमकीफसलकोसबसेज्यादाक्षतिहोतीहै।इसप्रकोपकेनियंत्रणकेलिएकिसानोंकोदवाओंकाछिड़कावकरनाचाहिए।जिलाउद्यानअधिकारीबालकृष्णवर्मानेबतायाकिआमकेफलमक्खीकीटआमफलोंकेअंदरघुसकरगूदेकोखाजातीहैं।इससेफलखराबहोजाताहै।इसकीटकीरोकथामकेलिएमिथाइलयूजीनाल0.1फीसद(1.5मिलीलीटरप्रतिलीटरपानी)+मैलाथियान0.2फीसद(02मिलीलीटरप्रतिलीटरपानी)काघोलबनाकर08-10स्थानपरप्रतिहेक्टेयरकेहिसाबसेचौड़ेमुंहकीशीशीयाडिब्बोंमेंभरकरपेड़ोंपरलटकादेनेसेनरमक्खियांआर्किषतहोकरमैलाथियानकीटनाशीकेप्रभावसेनष्टहोजातीहैं।इसप्रकारआमकाफलमक्खीकीटकेप्रकोपसेबचजाताहै।

कैसेपकाएंआमफल

आजमगढ़:आमकोपकानेकेलिएबाजारमेंइथेलसाल्युशनउपलब्धहै।आमकोठंडेपानीसेधोलियाजाय।उसकेउपरांत100से500पीपीएम(100मिलीग्रामी/लीटरपानी)इथरेलअथवाइथेफोनकाघोलतैयारकरनेकेउपरांतआमको15मिनटकेलिएडुबोदें,तत्पश्चातआमकोछायामेंसुखाकरकमरेकेतापमानपरभंडारितकरलें।इसप्रकारयहआमएकसेतीनदिनमेंपककरतैयारहोजाताहै।किसानोंकोयहभीसलाहदीजातीहै।आमकोग्रेडेडकरबाजारमेंबिक्रीकेलिएलेजाएं।इससेउन्हेंअच्छेदामप्राप्तहोंगे।