आक्सी-वन परियोजना लोगों के लिए बनेगी वरदान, मिलेगी शुद्ध वायु

जागरणसंवाददाता,करनाल:

डीसीनिशांतकुमारयादवनेकहाकिबढ़तीआबादीकेकारणआजविश्वभरमेंपेड़-पौधोंकीजगहकंक्रीटकेजंगलखड़ेहोरहेहैं।हीटआइलैंडइफेक्टसेवायुकीगुणवत्ताखराबहोतीहै।इसलिएपेड़ोंकीबहुतआवश्यकताहै।इसीकेदृष्टिगतशहरमेंकरीबपांचकरोड़रुपयेकीलागतसेआक्सी-वनकरनालमाडलबनायाजारहाहै।यहमुख्यमंत्रीसरकारकीतरफसेकरनालवासियोंकेलिएअनूठाउपहारहै।

पुरानीमुगलबादशाहीनहरपरविकसितहोगाआक्सी-वन

उन्होंनेबतायाकिआक्सी-वनपुरानीमुगलबादशाहीनहर(ओल्डमुगलकैनाल)परसेक्टर-चारसेलेकरमधुबनतककरीब4.5किलोमीटरलंबाव200फुटचौड़ातथा40हेक्टेयरभूमिपरबनायाजारहाहै।इसमेंनौप्रकारकेवनविकसितकिएजाएंगे।इनमेंचितवन(सौंदर्यवन),पाखीवन(पक्षीवन),ऋषिवन(सप्तऋषिवन)नीरवन(झरनावन),तपोवन(ध्यानकावन),सुगंधसुवास(सुगंधवन),अंतरिक्षवन(नक्षत्रवन),आरोग्यवन(स्वास्थ्यवन)तथास्मरणवन(स्मृतिवन)शामिलहैं।सभीवनोंमेंविभिन्नप्रकारकेफल-फूल,छायादारतथाआरोग्यऔषधीकेपौधेरोपितकिएजाएंगे।सूचनाकेंद्रऔरस्मारिकाकीदुकानभीहोगी।एम्फीथियटरकानिर्माणकियाजाएगा।लाइटएंडसाउंडशोभीदिखायाजाएगा।फूलोंकीखुशबूसेमहकेगावन

उन्होंनेबतायाकिचितवनमेंविभिन्नमौसमोंमेंखिलनेवालेआर्किडटी(कचनालर),इंडियनलैबर्नम(अमल्तास),प्राइडऑफइंडिया,रेडसिल्ककॉटनट्री(सीमल),इंडियनकोरल,सीताअशोक,जावाकैसिया,लालगुलमोहर,गोल्डनशॉवरवपैशनफ्लावर,जैसेसजावटीऔरफूलवालेपौधेलगाएजाएंगे।पाखीवनमेंपीपल,बरगद,पिलखन,नीमआदिकेपौधेहोंगे,आंतरिक्षवनमेंजंगलकीआग(पलाश/ढाक),कटहलगुल्लर,आवंला,कृष्णानील,चैम्पा,खैरवबेलपत्थरजैसेपौधेहोंगे।इसीप्रकारआरोग्यवनमेंतुलसी,आश्वगंधा,नीम,एलोवेरा,हरड़,बेहड़ा,आंवलाआदिऔषधीयपौधेहोंगे।सुगंधवाटिकामेंचमेली,रातकीरानी,दिनकाराजा,पारिजात,चम्पा,गुलाब,हनीस्कलवपैसीफ्लौराआदिपौधेहोंगे।

34तीर्थस्थलोंपरपंचवटीवाटिका

डीसीनेबतायाकिविश्वपर्यावरणदिवसकेअवसरपरहरियाणासरकारद्वाराकुरुक्षेत्रभूमि48कोसकेअंतर्गतपड़नेवालेकरीब134तीर्थस्थलोंपरपंचवटीवाटिकालगानेकीशुरूआतकीगई।इनमेंकरनालजिलाके34तीर्थभीशामिलहै।पंचवटीवाटिकाओंमेंबरगद,पीपल,आंवला,बेलपत्थरतथासीताअशोककेपेड़शामिलहैं।पौराणिकमहत्वकेअलावायेपेड़पर्यावरणीयलाभभीप्रदानकरतेहै।बड़औरपीपलविभिन्नप्रकारकेपक्षियों,कीड़ोंआदिसहितविभिन्नजीवनरूपोंकोभोजनऔरआश्रयप्रदानकरतेहैं।येबहुतअच्छेछायादारपेड़हैं।

वनविभागलगाएगातीनकरोड़पौधे

उन्होंनेबतायाकिकोविडसंकटऔरजीवनरक्षकआक्सीजनकेउत्पादनकेलिएमुख्यमंत्रीमनोहरलालकीप्रेरणासेवनविभागनेराज्यकेलोगोंकोबेहतरीनसुविधाएंप्रदानकरनेपरध्यानकेन्द्रितकियाहै।इसीउद्देश्यसेवनविभागनेइसवर्षतीनकरोड़पौधेलगानेकीमहत्वाकांक्षीयोजनाशुरूकीहै।