50 एनआरआइयों ने साधा संपर्क, एक माह में कोई नहीं आया

जागरणसंवाददाता,होशियारपुर:कोरोनाकोलेकरपंजाबसरकारपूरीतरहसेसख्तरुखअपनाएहुएहै।पंजाबसरकारनेअबविदेशआनेवालेएनआरआइलोगोंकोचेतावनीदेदीहैकितत्कालजानकारीनदेनेपरपासपोर्टरदकरदिएजाएंगे।अभीतक50लोगोंनेसंपर्ककियाहै,लेकिनवहदोमाहपहलेभारतआचुकेथे।जिसकेचलतेउनकीजांचकीकोईजरूरतनहींहै।नोडलअधिकारीडॉ.शैलेशनेबतायाकिप्रशासनकेवलउन्हींलोगोंकीजांचकरेगाजिन्हेंआएहुएएकमाहसे15दिनहुएहैं।बाकीवहकिसदेशसेआयाहैइसकोभीध्यानमेंरखाजाएगा।उन्होंनेबतायाकिअभीतकमात्र50कॉलआईहैं।यहसभीदोमाहसेभीपहलेवालेहैं,जिनसेकोईखतरानहींहै।

नोडलअधिकारीडॉ.शैलेशनेबतायाकियहवायरसएनआरआइलोगोंकेकारणपनपाहै,इसलिएहरउसव्यक्तिपरनजररखीजारहाहैजोकिपिछलेकुछदिनपहलेविदेशसेलौटाहै।उन्होंनेबतायाकिबकायदाजोभीलोगविदेशसेआएहैं,उनसेस्वास्थ्यविभागसंपर्ककायमकररहाहैऔरइसदौरानएनआरआइकेपरिवारोंकोट्रेसकरकेकार्रवाईकीजारही।उन्होंनेबतायाकिविभागकेवलउनकोट्रेसकररहाहैजोपिछलेएकडेढ़माहकेदौरानवापसलौटेहैं।

हरएनआरआइपरविभागकीनजर

जोउनइलाकोंसेलौटेहैंजोकोरोनाप्रभावीइलाकाहै।वैसेतोहरएनआरआइपरनजरबनाईजारहीहैपंरतुअधिकफोक्सउनकोकियाजारहाहैजोइनइलाकोंसेलौटेहैं।उन्होंनेबतायाकिउन्हेंपंजाबसरकारकेआदेशोंकेबादएनआरआइकोफोनआएऔरउन्होंनेभीजारीकीगईलिस्टसेरावताकायमकियापरंतुज्यादातरवहएनआरआइथेजोदोतीनमाहपहलेलौटचुकेहैं।विभागकोकेवलउनलोगोंकीतलाशहैजोमात्रएकमाहपहलेलौटेहैं।उन्होंनेलोगोंसेअपीलकीकियदिकोईऐसाहैतोवहतुरंतसिविलसर्जनदफ्तरहोशियारपुरमेंयाअपनेनिजीस्वास्थ्यकेंद्रमेंसंपर्ककरे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!