43 करोड़ के स्ट्रीट लाइट प्रोजेक्ट की रफ्तार धीमी, शहर के कई इलाके अंधेरे में; और दोआबा चौक में लगा दीं डबल लाइटें

सिटीकी10प्रमुखसड़केंअंधेरेमेंहैं।डीसीऑफिसकेबिल्कुलसामनेतीनमहीनेसेलाइटेंखराबहैं।इसीतरहलाडोवालीरोड,इंडस्ट्रियलएरियाकीसड़केंभीअंधेरेमेंहैं।वहीं,दूसरीतरफदोआबाचौकसेलेकरपठानकोटबायपासचौकतकपहलेकीबीअोटीकंपनीकीलाइटेंभीचलरहीहैं।

अब43करोड़केप्रोजेक्टकेतहतनईलाइटेंभीफिटकरदीहैं।इसतरहपूरीसड़कपरचंदफीटकेअंतरपरलाइटेंचलरहीहैं।सिटीकेकईइलाकोंमेंअंधेराहैऔरयहांदोगुनीरोशनीहोगईहै।निगमकीमिसमैनेजमेंटसे43करोड़कास्ट्रीटलाइटप्रोजेक्टलांचहोनेकेबावजूदसड़कोंपरअंधेराहै।सिटीमें79हजारकेकरीबलाइटेंहैं।

इनमेंसेपचासफीसदीकेकरीबलाइटेंनगरनिगमनेनएप्रोजेक्टकेतहतबदलदीहैं।जिनइलाकोंमेंलाइटेंचलरहीहैं,उनकीमेंटेनेंसभीसहीतरीकेसेनहींहोरहीहै।पिछलेदिनोंपार्षदोंनेनिगमकेसामनेपूरामामलाउठायाहै।अभीभीदिसंबरतकलाइटेंबदलनेकाकामजारीरहेगा।

इनकौंसलरोंनेकीहैस्ट्रीटलाइटोंकेखराबहोनेकीशिकायत

निगममेंएडहॉककमेटियोंकेचेयरमैनोंकाग्रुपसिटीकीदिक्कतोंपरचर्चाकरताहै।इसकीमीटिंगमेंबीतेदिनोंपार्षदबलराजठाकुर,जगदीशसमराय,हरशरणकौरहैप्पीआदिनेदिक्कतबताईथीकिजोनईलाइटेंफिटहोरहीहैं,वेजल्दीखराबहोरहीहैं।अलग-अलगइलाकोंमेंअलग-अलगजगहेंलाइटेंखराबहैं।

इंजीनियरोंकोलाइटोंकीक्वालिटीऔरबाकीतकनीकीठीककरानेकोकहाथा।वहीं,मेयरजगदीशराजराजाकहतेहैंकिजिनस्ट्रीटलाइटोंकोलेकरमेंटेनेंसकीदिक्कतेंआरहीहैं,उन्हेंनयाप्रोजेक्टपूरीतरहसेदूरकरदेगा।जोस्मार्टसिटीमें43करोड़सेएलईडीलगरहीहैं,इनसेबिजलीभीबचेगी।

पब्लिकस्पीक:गलियोंमेंभीस्ट्रीटलाइटेंबंद

न्यूहरदयालनगरनिवासीसोनूबाजवानेकहाकिउनकेइलाकेमेंस्ट्रीटलाइटेंलिश्कारेमारतीहैं।काफीसमयबादनईलाइटेंलगीहैं,इसकेबावजूदलोगोंकोअंधेरीगलियोंसेहोकरगुजरनापड़ताहै।यहतोसीधेतौरपरजनताकेपैसेकीबर्बादीहै।यूनिवर्सिटीरोड,लद्देवालीमेंरहनेवालेप्रकाशनेबतायाकिइलाकेकीसारीलाइटेंबंदहैं।रातकेसमयआने-जानेमेंवारदातकाडरबनारहताहै।

यहांलाइटेंखराब...

सिस्टममेंकमियां...

ऐसेहोगासुधार...

स्ट्रीटलाइटसिस्टमकासोशलऑडिटकरवायाजाए।शिकायतआनेकेबादउसेनिपटानेकासिस्टमगंभीरतासेलागूहो।