38 घंटे बाद भी सुलगती रही फैक्ट्री में लगी आग

संवादसूत्र,रनियां:औद्योगिकक्षेत्ररायपुरस्थितहाईवेकेकिनारेस्थितगणेशाइकोस्फेयरप्लास्टिकफैक्ट्रीमेंआगलगगईथी।38घंटेबीतनेकेबादभीफैक्ट्रीकेअंदरकुछस्थानोंपरआगसुलगरहीहैजबकिफैक्ट्रीकाअधिकांशहिस्सानष्टहोचुकाहै।अग्निशमनअधिकारीकृष्णकुमारनेशनिवारकोफैक्ट्रीकानिरीक्षणकरव्यवस्थाकाजायजालिया।मशीनोंवइलेक्ट्रिकपैनलकीबारीकीसेजांचकीऔरफैक्ट्रीकेअंदरफटेएलपीजीसिलिडरकोभीदेखा।सिलिडरकेउड़ेपरखच्चेसेफैक्ट्रीप्रबंधनकेसाथहीविभागीयअधिकारीभीहैरानरहगए।उन्होंनेकहाकिगनीमतरहीकिआगसेपेट्रोलपंपतकनहींपहुंची।इससेबड़ाहादसाटलगया।वहींएहतियातकेतौरपरपेट्रोलपंपपरभीसुरक्षाबढ़ादीगईहै।निरीक्षणमेंप्राथमिकतौरपरप्रबंधनने15करोड़रुपयेनुकसानकीसंभावनाजताईहै।फैक्ट्रीकेमैनेजरएसएसशेखावतनेबतायाकिफैक्ट्रीकाअधिकांशहिस्साजलगयाहै।वहींकईमशीनेंभीजलकरनष्टहोगईहैं।

कर्मियोंकेसमक्षरोजी-रोटीकासंकट

गणेशाइकोस्फेयरफैक्ट्रीमेंकार्यकरनेवालेदोसौसेअधिकश्रमिकोंकेसमक्षरोजी-रोटीकासंकटआगयाहै।लॉकडाउनकेदौरानजहांउन्हेंसमस्याओंसेजूझनापड़रहाथावहींकामजानेकेबादऔरभीस्थितियांबिगड़गईहैं।कंपनीमेंकामकरनेवालेबृजमोहन,राजेश,राहुलनेबतायाकिकईसालोंसेइसीफैक्ट्रीमेंकामकररहेहैं।अबदूसरीफैक्ट्रीमेंकामकीतलाशकरनीपड़ेगी,उसपरभीकाममिलजाएभरोसानहींहै।