350 वर्ष पुराने तालाब के अस्तित्व पर खतरा

औरंगाबाद।गर्मीकेमौसममेंनदीकेसाथतालाबएवंतालतलैयासूखनेलगाहै।पानीकोलेकरशहरसेलेकरगांवोंमेंहाहाकारमचाहै।अधिकांशतालाबोंमेंपानीसूखगयाहै।सदरप्रखंडकेयारीगांवस्थिततालाबमेंपानीनहींहै।तालाबकेअंदरगांवकेबच्चेक्रिकेटखेलरहेहैं।ग्रामीणोंकेअनुसारतालाब350वर्षपुरानाहै।पानीकोलेकरग्रामीणबेचैनहै।ग्रामीणकभीतालाबकेपानीसेप्यासबुझातेथे।अबचापाकलकेपानीसेप्यासबुझातेहैं।गांवकेकईघरोंमेंचापाकलसूखगएहैं।अबस्थितियहहैकिगर्मीकेमौसममेंतालाबमेंपानीनहींरहताहै।पानीनरहनेकेकारणग्रामीणोंकीपरेशानीबढ़जातीहै।करीबछहबीघेमेंफैलेइसतालाबमेंमछलियांछलकतीथी।अबमछलीकोपानीनसीबनहींहै।गांवकेपासहीतालाबहैजिसकारणग्रामीणपशुकोयहींपानीपिलातेथे।यहयारीतालाबकेनामसेप्रसिद्धहै।ग्रामीणविजयकुमारमिश्रएवंपरागमिश्रनेबतायाकितालाबकोउद्धारकीजरूरतहै।जबतकतालाबकीपूरीतरहसफाईनहींहोजातीपानीनहींरहेगा।तालाबसूखनेसेगांवकाजलस्तरनीचेचलागयाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकियहतालाबबरसातीबनकररहगयाहै।बारिशहोनेपरपानीभरजाताहै।गर्मीशुरूहोतेहीयहसूखजाताहै।तालाबसूखनेकेकारणग्रामीणोंकोपरेशानियांहोरहीहै।तालाबकेपश्चिमकिनारेमेंभगवानसूर्यएवंशिवकामंदिरहै।ग्रामीणतालाबमेंस्नानकरमंदिरमेंपूजाकरतेहै।यहांभगवानशिवकीप्रख्यात¨लगहै।बतायाकियह¨लगकालापत्थरकाहै।इसेपूर्वमेंपानीकेअंदरडूबानेकीकोशिशकीगईथीपरंतुयह¨लगपानीमेंनहींडूबा।ग्रामीणोंकोयहज्ञातनहींहैकियह¨लगकितनेवर्षपुरानीहै।शिवरात्रिकेदिनयहांपूजाकरनेकेलिएश्रद्धालुओंकीजनसैलाबउमड़तीहै।तालाबपरिसरस्थितसूर्यमंदिरमेंश्रद्धालुप्रत्येकदिनपूजाकरनेपहुंचतेहैं।छठपर्वकेदौरानयहांव्रतकरनेकोलेकरव्रतियोंकीभीड़उमड़ताहै।तालाबकाजीर्णोद्धारनहींहोनेकेकारणश्रद्धालुओंकोपरेशानियांहोतीहै।सूर्यमंदिरकेउपरस्थापितकलशसूर्यकीरोशनीसेचमकतेरहताहै।जलसंरक्षणकामिटरहाअस्तित्व

सृष्टिकेसंचालनमेंप्रत्येकजीवोंकेलिएवायुआवश्यकहै,उसीप्रकारजीवनमेंजलकीमहत्ताकमनहींहै।जीवनकेलिएजलजरूरीहै।पानीकेबिनामनुष्यक्यापशुपक्षीकाजीवननहींरहसकताहै।जलकेबिनासृष्टिकाचक्रबाधितहोजाएगा।पहलेसेहीइसकीमहत्ताकोसमझतेहुएहरक्षेत्रमेंतालाबवकुआंकानिर्माणकरजलसंरक्षणवप्रबंधनकीव्यवस्थाकीजातीरहीहै।ऐसेतोजलसंरक्षणऔरजलप्रबंधनमेंथोड़ीभिन्नताहै।हालांकिविश्वकीबढ़तीआबादीकेहिसाबसेजलप्रबंधनएवंजलसंरक्षणकीदिशामेंजितनीघोषणाएंहुईहैंउसअनुपातमेंधरातलपरउपलब्धिशून्यहै।गर्मीकेमौसममेंतालाबवकुआंसूखगएहैं।तालाबसूखनेसेखासकरजंगलीपशुओंकीपरेशानीबढ़गईहै।जलसंरक्षणकेप्रतिआमजनकोजागरूककियाजारहाहैपरंतुउसकाअसरकहींदिखाईनहींदेता।सरकारजलसंचयकेप्रतिगंभीरनहींहै।तालाबकेजीर्णोद्धारकीयोजनाएंचलीपरंतुधरातलपरनहींउतरा।जागरूकताकेअभावमेंयोजनाएंदमतोड़रहीहै।पीनेलायकनहींरहातेंदुआदानतालाबकापानी

सदरप्रखंडकेपोइवांपंचायतकेतेंदुआदानकातालाबदयनीयहै।तालाबकानिर्माण1914मेंयहांकेग्रामीणरामअनुग्रहमिश्रानेकरायाथा।ग्रामीणोंकीमानेतोगांवमेंपानीनहींथी।चापाकलकीसंख्याशून्यकेबराबरथी।तालाबकेपानीसेग्रामीणप्यासबुझातेथे।अबस्थितियहहैकितालाबमेंपानीतोहैपरंतुपीनेलायकनहीं।तालाबमेंगांवकीनालीकागंदापानीभरगयाहै।हालातयहकिकारणग्रामीणोंकीपरेशानीबढ़जातीहै।20बीघामेंफैलेइसतालाबमेंकभीमछलियांउछलतीरहतीथी,अबमछलीकोभीपानीनसीबनहींहै।ग्रामीणबालरूपपासवान,रंजीतकुमार,वार्डसदस्यचुनचुन,विजयकुमार,विनयपासवानएवंरामगतियादवनेबतायाकितालाबकोखेवनहारकीजरूरतहै।जबतकतालाबकीपूरीतरहसफाईनहींहोजातीपानीनहींरहेगा।पोइवांपंचायतमुखियारंजनकुमारउर्फबाबूनेबतायाकितालाबकाजीर्णोद्धारकरायाजाएगा।जैसेहीपंचायतकोफंडउपलब्धहोगा,ग्रामीणोंकेसाथबैठककरयोजनातैयारकीजाएगी।मुखियानिधिसेहोनाथाकार्य:रामजतन

फोटोफाइल-09एयूआर19

यारीगांवनिवासीरामजतनसावनेबतायाकिमुखियानिधिसेतालाबकाजीर्णोद्धारहोनाथापरंतुनहींहोसका।मुखियाद्वारातालाबभीसूखदियागयापरंतुकोईकार्यनहींकियागया।तालाबखेतबनकररहगयाहै।तालाबकीपानीसेहोताहैछठ:उमेश

फोटोफाइल-09एयूआर20

ग्रामीणउमेशकुमारनेबतायाकियहांकार्तिकएवंचैतमेंछठकरनेकेलिएभीड़उमड़तीहै।कार्तिकमेंतोछठकरनेभरपानीरहताहैपरंतुचैतमाहमेंआधासेअधिकतालाबसूखजाताहै।भेड़िया,कनबेहरी,सोनवर्षा,भरवारसमेतअन्यगांवकेग्रामीणव्रतकरनेपहुंचतेहैं।तालाबकाहोजीर्णोद्धार:¨पटू

फोटोफाइल-09एयूआर21

यारीगांवके¨पटूमिश्रानेबतायाकियहपौराणिकतालाबहै।यहतालाबपुरानाहै।तालाबकोजीर्णोद्धारकीजरूरतहै।इसकेप्रतिअधिकारियोंएवंजनप्रतिनिधियोंकोजागरूकहोनाहोगाताकितालाबकाअस्तित्वबचारहे।तालाबमेंउछलतीथीमछलियां:सत्यनारायण

फोटोफाइल-09एयूआर22

ग्रामीणसत्यनारायणयादवनेबतायाकिपहलेइसतालाबमेंमछलियांउछलतीथीपरंतुअबमछलियोंकोपानीनहींमिलरहाहै।पानीकेबिनामछलीतड़पकरदमतोड़दिए।गर्मीकेशुरुआतहोतेहीपानीसूखजाताहै।जीर्णोद्धारकीजरूरतहै।जलछाजनकेतहतजलसंग्रहणकाकार्यचलरहाहै।मनरेगाकेतहततालाबखोदेजारहेहैं।कईतालाबोंकाजीर्णोद्धारकरायागयाहै।मनरेगाकेतहततालाबकोईभीव्यक्तिअपनेनिजीजमीनमेंखोदवासकताहै।इसकेलिएसरकारद्वाराप्रोत्साहनराशिदीजारहीहै।

संजीव¨सह,डीडीसी,औरंगाबाद।

फोटोफाइल-09एयूआर23