31 देशों के 55 मेहमानों ने किया कुरुक्षेत्र के तीर्थ और पर्यटन स्थलों का अवलोकन

जागरणसंवाददाता,कुरुक्षेत्र:कौटिल्यफेलोशिपप्रोग्राम(केएफपी-2020)केतहत31देशोंके55पर्यटकोंनेधर्मनगरीकेतीर्थस्थलोंकाअवलोकनकिया।वेइंडियाफांउडेशननईदिल्लीकेप्रयासोंसेकुरुक्षेत्रपहुंचेथे।

फाउंडेशनकेसलाहकारएवंसरस्वतीनदीपरशोधकरनेवालेफ्रांसनिवासीकोमपेंटियरनेउनकीअगुवाईकी।श्रीकृष्णसंग्रहालयमेंढोलकीथापपरविदेशीमेहमानखुदकोरोकनहींपाएऔरउन्होंनेखुबनृत्यकिया।

कुरुक्षेत्रविकासबोर्डकेमानदसचिवमदनमोहनछाबड़ानेश्रीकृष्णसंग्रहालयमेंशुक्रवारकोसैलानियोंकास्वागतकिया।उन्होंनेकहाकिकुरुक्षेत्रकीभूमि48कोसकीहै।इसमें134तीर्थऔरपर्यटनस्थलहैं।कुरुक्षेत्रविकासबोर्डइनकीदेखरेखकररहाहै।इसभूमिकेकण-कणमेंभगवानश्रीकृष्णकावासहैऔरआजभीपूरेविश्वकेलिएपवित्रग्रंथगीताकेउपदेशप्रासंगिकहै।श्रीकृष्णसंग्रहालयकेक्यूरेटरराजेंद्रराणानेपावरपॉइंटप्रेजेंटेशनसेकुरुक्षेत्रकेइतिहासऔरमहाभारतकेबारेमेंविस्तृतजानकारीदी।इंडियाफाउंडेशननईदिल्लीकेसदस्यअपूर्वनेकहाकिकौटिल्यफेलोशिपप्रोग्राम2020केतहत31देशोंके55विदेशीमेहमानभ्रमणकेलिएकुरुक्षेत्रआएहैं।यहसंस्थापूरेविश्वमेंभारतकीविदेशनीतिकेतहतकार्यकररहीहै।इससंस्थाकेसाथदेशकीजानी-मानीहस्तियांजुडीहुईहैं।प्राचीनसभ्यताहोनेकेतथ्यमिले

शोधकर्ताकोमपेंटियरनेकहाकिसरस्वतीनदीऔरकुरुक्षेत्रकेइतिहासपरलंबाअध्ययनकरनेकेउपरांतप्राचीनसभ्यताहोनेकेतथ्यमिलेहैं।सरस्वतीनदीआदिबद्रीसेनिकलकरगुजरातकेकच्छतकपहुंची।तटपरलगभगपांचहजारवर्षपुरानीसभ्यताहोनेकेतथ्यमिलेहैं।इनतथ्योंसेहीपूरेविश्वकोभारतकेइतिहासकोजाननेकाअवसरभीमिला।जीएसआइऔरसरस्वतीधरोहरविकासबोर्डकेबीचएकसांझासमझौताभीहुआहै।इससमझौतेकेआधारपरसरस्वतीनदीकोइसधरातलपरलानेकेप्रयासकिएजारहेहैं।

इनदेशोंकेसैलानीशामिलथे

अफगानिस्तान,अर्जेंटाइना,ऑस्ट्रेलिया,बंलादेश,ब्राजील,कंबोडिया,कनाडा,चीन,कोलंबिया,डेनमार्क,भारत,इंडोनेशिया,इजराइल,जोर्डन,लाओ,म्यांमार,नेपाल,नाइजीरिया,नॉर्वे,फिलिपींस,सिगापुर,रूस,स्लोवानिया,सोमालिया,श्रीलंका,ताइवान,थाइलैंड,तुर्की,यूएई,यूकेऔरयूएसएकेसैलानीशामिलहैं।यहप्रतिनिधिमंडल26जनवरीकोभारतआयाथाऔरतीनफरवरीतकरहेगा।श्रीकृष्णासंग्रहालयमेंअपूर्वमिश्रा,दीपशिखागोयल,प्राकेतआर्य,श्रुतिआर्य,सृष्टिपुखरम,सिद्धार्थसिंह,सौम्याचतुर्वेदीवनवागमहार्डेकोसोविनियरभेंटकरसम्मानितकिया।इसकेबादशिष्टमंडलनेश्रीकृष्णसंग्रहालय,पैनोरमा,ब्रह्मसरोवर,ज्योतिसर,शेखचेहलीकेमकबरेसहितअन्यपर्यटनस्थलोंकाअवलोकनकिया।