14 वर्षो से दो भक्त कर रहे माता की सेवा

बांका।विभिन्नदुर्गामंदिरोंमेंश्रद्धालुओंकीभीड़बढ़नेलगीहै।रातापंचायतकेखड़ौवा,खेसरपंचायतमेंखेसरएवंरमसरियाहाट,भीतियापंचायतमेंकठडांड,फुल्लीडुमरपंचायतकेशिशवादमगी,केंदुआरपंचायतकेझाझागांवमेंमांभगवतीकीपूजाआराधनाकीजातीहै।लेकिनउत्तरीकोझीपंचायतअंतर्गतइटहरीफुल्लीडुमरमेंस्थितदुर्गामंदिरशक्तिपीठकेरूपमेंप्रतिष्ठितहै।यहांकीपूजामेंदूरदूरकेश्रद्धालुशरीकहोतेहैं।शाहकुंडप्रखंडअंतर्गतदीनदयालपुरकेपंडितरविकांतझाकेपुरोहित्यमेंसारेवैदिकअनुष्ठानसंपन्नकराएजारहेहैं।पंडितकेअनुसारश्रद्धालुजिसकामनाकेसाथनियमनिष्ठासेपूजापाठकरतेहैंतोउसकीमनोकामनाअवश्यपूरीहोतीहै।विगत14वर्षोंसेदिलीपदेवएवंआठवर्षोंसेसंजीतकुमारदेवआठोपहरमाताकीसेवामेंलगेहैं।वहीं,क्रांतिकुमाररायनेअन्ननहींग्रहणकरतेहैं।सिर्फगंगाजलपीकरमाताकीपूजामेंलगेहैं।करीबदर्जनभरऐसेसेवकहैंजोमाताकेदरबारमेंआठोंपहरअपनीहाजिरीदेतेहुएदत्तचित्तहोमाताकीआराधनामेंलगेहैं।जिनमेंरविद्रमांझी,शंकरराय,दिवाकरदेव,कालीचरण,विनोदराय,मुकेशसाहसहितअन्यमुख्यहैं।पूजासमितिकेअध्यक्षरामप्रवेशदेवनेबतायाकिअंग्रेजकेजमानेसेयहांबासंतीनवरात्रकेअवसरपरभगवतीदुर्गाकीमूर्तिस्थापितकरमेलाकाआयोजनकियाजारहाहै।