14 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 40 प्रतिशत शिक्षण पद रिक्त, सरकर ने राज्यसभा में दी जानकारी

CentralUniversitiesVacantPostNews:देशके14केंद्रीयविश्वविद्यालयोंमें40प्रतिशतसेअधिकस्वीकृतशिक्षणपदरिक्तपड़ेहैं।केंद्रीयशिक्षामंत्रीधर्मेंद्रप्रधाननेराज्यसभाकोयहजानकारीदीहै।मीडियारिपोर्ट्सकेअनुसार,शिक्षामंत्रीनेएकप्रश्नकेलिखितजवाबमेंराज्यसभाकोबतायाकि44केंद्रीयविश्वविद्यालयमेंसे14मेंशिक्षणपदोंपर40फीसदीसेअधिकरिक्तियांहैं।इनमेंदिल्लीविश्वविद्यालयऔरइलाहाबादविश्वविद्यालयमेंसबसेज्यादा70प्रतिशतसेअधिकशिक्षणपदरिक्तहैं।

44केंद्रीयविश्वविद्यालयोंमेंलगभग19,000शिक्षणपदोंमेंसे6,000सेअधिकपदइसवर्ष1अप्रैलतकरिक्तथे।दिल्लीविश्वविद्यालयमेंसबसेअधिकपदरिक्तहैं।इसविश्वविद्यालयमेंस्वीकृतशिक्षणपद1706हैं,जिनमेंसे846पदरिक्तहैं।इसकेबाद,इलाहाबादविश्वविद्यालयकास्थानहै,जहां863स्वीकृतशिक्षणपदोंमेंसे598पदरिक्तहैं।शिक्षामंत्रालयनेराज्यसभाकोयहभीसूचितकियाकिकेंद्रीयविश्वविद्यालयोंके22कुलपतियोंकेपदरिक्तहैं।इनमें12पदोंपरनियुक्तियोंकोपहलेहीविजिटरद्वाराअंतिमरूपदियाजाचुकाहै।

बतादेंकिशिक्षामंत्रीद्वाराउपलब्धकराएगएडेटाकेअनुसार,इसवर्ष1अप्रैलतकसेन्ट्रलयूनिवर्सिटीमें33.4प्रतिशतशिक्षणपदऔर37.7प्रतिशतगैरशिक्षणपदरिक्तथे।आंकड़ोंसेयहभीस्पष्टहुआकि44सेन्ट्रलयूनिवर्सिटीमें50प्रतिशतसेअधिक,23में30प्रतिशतसेअधिकपदरिक्तहैं।वहीं,मात्र3यूनिवर्सिटीमें20प्रतिशतसेकमपदरिक्तहैं।

शिक्षामंत्रीनेयहभीकहाकिरिक्तियोंकाउत्पन्नहोनाऔरभराजानाएकसततप्रक्रियाहै।तीनवर्षसेअधिकसमयसेरिक्तपड़ेपदोंकेसंबंधमेंकेंद्रीयस्तरपरडेटानहींरखेजातेहैं।वहीं,केंद्रीयविश्वविद्यालयमेंकुलपतिकीनियुक्तिपरशिक्षामंत्रीनेकहाकियहएकसमयलेनेवालीप्रक्रियाहै।जिसमेंसंबंधितकेंद्रीयविश्वविद्यालयकीकार्यकारीपरिषद/न्यायालयकानामांकनप्राप्तकरना,खोज-सह-चयनसमितिकागठन,पदोंकाविज्ञापनआदिशामिलहै।