एक महल कतने बच्चे पैद कर सकत है

इसी को लेकर जिला पंचायत राज पदाधिकारी ने पत्र जारी करते हुए वर्ष 2016-17 से संबंधित सभी नल जल योजना की जांच कर एक सप्ताह के अंदर बीडीओ एवं संबंधित कनीय अभियंता को नामित करते हुए जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। मंगलवार को बीडीओ बृजेश कुमार दीपक ने कटिहारी पंचायत के नल जल योजना की जांच की। संचालित योजना के साथ अभिलेख भी जांच की जा रही है। जिसमें वार्ड नंबर दो एवं आठ के नल जल की जांच की गई। वाई नंबर नंबर में अपूर्ण नल जल योजना पर बीडीओ ने रिपोर्ट करने की बात कही। बुधवार को कठोन एवं कटोरिया पंचायत के नल जल योजना की जांच की गई। दोनों पंचायतों में मुखिया द्वारा किए गए कार्य की बीडीओ ने प्रशंसा की। बता दे वर्ष 2016-17 में प्रखंड के कुल 14 पंचायतों के 24 विभिन्न वार्डों में पेयजल योजना का कार्य प्रारंभ किया गया था। जिसमें अधिकांश पेयजल योजना अधर में लटका पड़ा है। पिछले वर्ष ही प्रखंड के कई मुखिया से अपूर्ण योजना की राशि रिकवरी कराई गई थी। मगर उस योजना से भी राशि निकासी कर बंदरबांट कर ली गई है। उन प्रतिनिधियों पर गाज गिरना लगभग तय है।