बरन सेक्स वडय

जांच टीम के सदस्यों ने अगले सवाल में एनसीपी चीफ से पूछा कि क्या जांच आयोग को भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में जांच या सुझाव के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray), पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और प्रकाश अंबेडकर (Prakash Yashwant Ambedkar) को बुलाया जाना चाहिए? जिसका जवाब देते हुए शरद पवार ने कहा कि आयोग अपनी जांच के लिए पूरी तरह स्वतंत्र है। अगर जांच टीम को लगता है कि भविष्य में इस तरह के दंगे जैसी स्थिति रोकने में सुझाव मिल सकता है तो किसी को भी समन जारी कर सकता है। यह उसका अधिकार है।