वहम से भ अक्सर खत्म ह जते हैं कुछ रश्ते

जेठवारा के नेवाड़ी संघ के चुनाव में राजेश ¨सह सभापति व अवध लाल उपसभापति चुने गए। चुनाव के बाद जब जिला सहकारी बैंक प्रतिनिधि के लिए सपा नेता राजकुमार यादव ने अपने नाम के साथ अपनी पत्नी कुसुम यादव, मां प्रभावती देवी व रामप्रकाश समेत चार लोगों का नाम नामित कर चुनाव अधिकारी अनिल कुमार व सहायक निर्वाचन अधिकारी विनोद कुमार को सौंपा। इस पर कुछ लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और देखते ही देखते कहासुनी होने लगी। इसी बीच कुछ लोग हाथापाई करने लगे। भाजपा नेता के करीबी बताए जाने वाले एक शख्स ने इस दौरान निर्वाचन अधिकारी से हाथापाई कर ली और धमकी भी दी। ऐसे में आरओ ने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस ने उस शख्स को हिरासत में ले लिया। निर्वाचन अधिकारी ने उस शख्स के खिलाफ हाथापाई और धमकी देने की तहरीर भी थाने में दे दी, मगर बाद में राजनीतिक दबाव पड़ने पर वे तहरीर वापस लेने पर मजबूर हो गए। पुलिस ने भी हिरासत में लिए शख्स को छोड़ दिया। प्रभारी एसओ अशोक कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों का समझौता हो गया है। अब कोई विवाद नहीं है। एआर कोआपरेटिव अर¨वद प्रकाश ने बताया कि कुछ लोग निर्धारित समय समाप्त होने के बाद पर्चा लेना चाह रहे थे। उन लोगों ने चुनाव अधिकारी से हाथापाई भी की। शुरू में जेठवारा थाने में तहरीर गई थी, लेकिन बाद में वापस ले ली गई।