बजेप संसदय दल क बैठक

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के जिला प्रधान डा. एचएस कलेर व सचिव डा. चेतन नंदा ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत जिले के 15 निजी अस्पताल काम कर रहे थे। इनका करीब 80 लाख रुपये का बकाया बीमा कंपनियों की तरफ हो चुका था, जिसका भुगतान नहीं किया जा रहा। उन्होंने बताया कि इसके इलावा बीमा कंपनियों की ओर से तरह-तरह के बहाने बनाकर अस्पतालों के पैसे काटे जाते थे। मरीजों को मिली थी बड़ी राहत