सुबह सवेरे लेकर तेर नम प्रभु pdf

पानी रोककर मछली का धंधा करने वालों से रसूलाबाद थाना के 12 से अधिक गांवों के किसानों की करीब तीन हजार बीघा धान की फसलें प्रभावित हैं। नहर का पानी बांध कर नदी में छोड़ने से औरंगपुर गहदेवा की लगभग 400, तोरना की 300, थान हमीरपुर की 200, भीतरगांव की 700, दलिकपुर महाराजपुर की 500, खेड़ा कुर्सी की 400, पलिया बांस खेड़ा की 300, भीटी कुर्सी के किसानों की 200 बीघा धान की फसल पानी में डूबी है। चौपट होती फसल की शिकायत किसानों ने पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने नहर विभाग का मामला बताकर पल्ला झाड़ लिया। किसानों का आरोप है कि नहर विभाग के बेलदार व तार बाबू की मिलीभगत से मछली पकड़ने वालों का धंधा फल फूल रहा है। किसी अधिकारी के रुचि नहीं लेने से किसान परेशान हैं। उन्होंने बताया कि मुख्य मार्गों पर भी पानी भरा है तहसील मुख्यालय तक पानी से होकर गुजरना पड़ रहा। बाजार नहीं जा पा रहे। तहसीलदार रसूलाबाद राजकुमार चौधरी ने बताया क्षेत्रीय लेखपालों को मौके पर भेजकर मामले की जांच कराएंगे और पीड़ित किसानों को राहत पहुंचाने के लिए उचित व्यवस्था की जाएगी।