ग्रमण क्षेत्र में रजगर के अवसर

समीर वानखेड़े ने एसीपी रैंक के पुलिस अधिकारी के सामने बयान दिया है कि उनके जाति प्रमाणपत्र को लेकर उन्हें और उनके परिवारवालों को बोगस कहा जाता है, जिसे वो गाली के तौर पर ही कंसीडर करते हैं. बोगस का मतलब क्या होता है, इस बात से वो और उनका परिवार बेहद आहत है. जानकारी के मुताबिक, नेशनल कमीशन ऑफ SC/ST को भी जो उन्होंने लिखित शिकायत दी थी, उसमें भी इस बात का जिक्र किया गया है और इसी शिकायत को लेकर SC/ST कमीशन ने मुंबई पुलिस को शिकायत की कापी और दस्तावेज को जांच के लिए सौंपा है.