व ल ट इन ड व लप पर wife

उपासने ने आगे कहा कि जब राज्यपाल ने आदिवासी अंचल के दौरे किए तो सरकार को भय है कि विकास व सुविधाओं के खोखले दावों की पोल कहीं खुल न जाए। इसी कारण प्रदेश सरकार राज्यपाल की सक्रियता पर राजनीतिक आरोप लगाकर राज्यपाल के पत्र का जवाब न देकर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रही है। उपासने ने रविंद्र चौबे के बयान को देश के राष्ट्रपति सहित राज्यपाल व राज भवन का खुला अपमान बताते हुए रविंद्र चौबे को तत्काल मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग की है।