उद्यग वभग मध्य प्रदेश 2018

एसपी भले ही बरामद अवैध शराब को नष्ट कराने की तैयारी में हैं वहीं अधिसंख्य थानों में बरामद शराब पुलिस गायब कर चुकी है। बरामद माल की जांच हुई तो कई पुलिस कर्मियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा। पुलिस पिछले दरवाजे से बरामद शराब को सीधे सरकारी दुकानों तक पहुंचाती है। सरकारी दुकानों पर इसे सस्ते दर पर दिया जाता है। दुकानदार इसे सरकारी दर पर बेचता है।