तेज दंत दर्द क इलज

किरती किसान यूनियन द्वारा कथित कोरोना मरीजों को घर भेजने के खिलाफ गांव उभावाल में केंद्र व पंजाब सरकार की अर्थी फूंकी गई। नारेबाजी करते हुए यूनियन के राज्य नेता भूपिदर सिंह लोंगोवाल व जिला नेता दर्शन कुनरा ने बताया कि महामारी के फैलते समय केंद्र व पंजाब सरकार ने सेहत सुविधाओं, भोजन व अन्य जरूरी सुविधाओं का प्रबंध करने के बजाय लोगों को घरों में बंद कर दिया। बिजली संशोधन बिल, बड़े घरानों को करोड़ों रुपये की रियायतें देने के फैसले लेकर सरकार ने अपना लोक विरोधी चेहरा नंगा किया है। अब जब महामारी अपनी चर्म सीमा पर है तो सरकार पीड़ित मरीजों को अस्पताल में इलाज करने की बजाय घर भेज रही है, जिससे कोरोना महामारी को ओर बढ़ने के लिए समय मिल जाएगा। ऐसा कर पीड़ितों के अलावा उनके परिवार वालों को भी खतरा पैदा हो गया है। उन्होंने मरीजों को अस्पताल में भर्ती कर इलाज शुरु करने, सेहत सुविधाएं बेहतर बनाने, लॉकडाउन खत्म कर पुलिस की दहशत खत्म करने की मांग की। इस मौके यूनियन के नेता जसवदीप सिंह, बलवीर सिंह, लखविदर सिंह, सुखदेव सिंह आदि उपस्थित थे।