त ज कब ह 2019 date

संवाद सूत्र, सुनाम ऊधम सिंह वाला (संगरूर) : घुम्मन भवन समक्ष सीपीआइ (एम) के कार्यकर्ताओं ने कोरोना महामारी के मद्देनजर व्यक्तिगत दूरी बनाकर केंद्र सरकार द्वारा तेल की कीमतों में की गई वृद्धि के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया। इस दौरान औरंगाबाद रेल पटरी पर मारे गए 16 मजदूरों व विशाखापटनम में फैक्ट्री में से गैस लीक होने के कारण मारे गए 11 लोगों के लिए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भेंट की गई। युवा नेता कामरेड वरिदर कौशिक व एडवोकेट मित्त सिंह जनाल ने कहा कि लॉकडाउन के चलते पहले ही कारोबार बंद पड़े होने के कारण लाखों मजदूर व गरीब लोग बेरोजगार हो गए हैं, परंतु मोदी सरकार ने तेल कीमतों पेट्रोल पर 10 रुपये, डीजल पर 13 रुपए प्रति लीटर आबकारी ड्यूटी व सैस में भारी विस्तार करके संकट के समय देश के लोगों पर आर्थिक बोझ डाल रही है। हैरानी की बात है कि अंतरराष्ट्रीय मंडी में तेल की कीमतें कम हो गई हैं, परन्तु सरकार टैक्स बढ़ा रही है।