सुबह सवेरे लेकर तेर नम प्रभु लरक्स

संवाद सूत्र, राजनगर : पांच अनाथ बच्चों की मदद के लिए शनिवार को सरना फिल्म निर्माता सह प्रखंड समन्वयक सावन सोय के नेतृत्व में मुखिया रासमनी हांसदा, रामचंद्र देवगम व रंजीत कुमार महतो छोटा कुनाबेड़ा गांव पहुंचे। मुखिया ने बच्चों को एक माह का सूखा राशन प्रदान कर सहयोग किया। दो दिन पूर्व ही बच्चों की मां का निधन हो गया था। एक वर्ष पूर्व उनके पिता की भी मृत्यु हो चुकी है। ग्रामीणों के साथ बैठक कर बच्चों के देखभाल की जिम्मेदारी पड़ोसियों को दी गई। फिलहाल घर में पटाश्याम मार्डी (इंटरमीडिएट), राम मार्डी (मैट्रिक), लखन मार्डी नवम, पिथो मार्डी (आठवां) और चार वर्षीय मीना मार्डी आंगनबाड़ी में अध्यनरत हैं। सभी बच्चे फिलहाल 75 वर्षीय दादी खुदी मार्डी के साथ रहते हैं। सावन सोय ने पांचों बच्चों में से तीन बच्चों को स्पांसरशिप योजना के तहत दो हजार रुपये प्रति माह का लाभ दिलाने, बैंक खाता, आय प्रमाण पत्र, पारिवारिक सूची व मां का मृत्यु प्रणाम पत्र बनवाने की बात कही। मुखिया रासमनी ने कहा कि सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलने तक आर्थिक सहयोग की जाएगी। मौके पर सरना फिल्म निर्माता सह समाजसेवी सह प्रखंड समन्वयक सावन सोय, मुखिया रासमनी हांसदा, पंचायत सेवक लालमोहन हांसदा, अंचल कर्मचारी विद्यासागर टुडू, बीएफटी रामचंद्र देवगम, ग्राम प्रधान रामराय मार्डी, गोपाल महतो, कैलाश प्रसाद महतो, रंजीत कुमार महतो, जोबा टुडू, शमशेर मुर्मु, इंदी तियु, संचिता मंडल, लखन मार्डी, वरूण मार्डी, भीम सोरेन, लाल लोहार, मनीषा हांसदा, दुलारी सोरेन, बबलू सोरेन समेत कई ग्रामीण उपस्थित थे। मुरुमडीह के अनाथ बच्चों को मिला स्पांसरशिप योजना का लाभ : मुरुमडीह के अनाथ बच्चों को शनिवार को सरकार की स्पांसरशिप योजना का लाभ मिला। सरायकेला में आयोजित कार्यक्रम में महिला बाल विकास मंत्री जोबा माझी ने आठ वर्षीय अनाथ सत्यम बेउरा को प्रमाण पत्र प्रदान किया। सत्यम बेउरा को हर माह दो हजार रुपये मिलेंगे। 15 जुलाई को विद्याधर बेउरा का निधन हो गया था। उसके बाद उसके तीन बच्चे भवानी बेउरा, नंदनी बेउरा व आठ वर्षीय पुत्र सत्यम बेउरा अनाथ हो गए थे। लड़कियों का नामांकन कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यायल में कराया जाएगा।