post office of india recruitment 2018

मधेपुरा। अनुमंडल क्षेत्र में कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन होने से लोग मंहगाई का मार झेलने को विवश हैं। लोग ऊंची कीमत पर समान खरीद रहे हैं। वहीं थोक विक्रेताओं ने कई समान की जमाखोरी कर रखा है। सामान के दाम में अचानक वृद्धि कर दी गई है। कई जरूरत के समान बाजार से गायब होने की बात सामने आ रहा है। इससे लोगों की चिताएं बढ़ गई है। लोगों और जनप्रतिनिधियों ने मूल्य वृद्धि पर नियंत्रण किए जाने की मांग प्रशासन से की है। जबकि प्रशासन ने कालाबाजारी, जमाखोरी, अधिक दाम लिए जाने को लेकर निर्देश जारी कर रखा है। इसे लेकर एसडीएम एसजेड हसन ने सभी प्रखंड क्षेत्र में जांच टीम गठित कर रखा है। यद्यपि यहां पर प्रशासनिक आदेश का असर नहीं दिख रहा है। इस मामले में प्रशासन का एक और अलग से आदेश जारी हुआ है। इसमें एसडीएम एसजेड हसन ने कहा है कि बाजार में सामान की कमी नहीं होने दिया जाएगा। यदि समान की कमी होती है तो व्यवसायी माल वाहक की अनुमति उसके कार्यालय से प्राप्त कर मंडी अथवा उचित बाजार से समान ला सकते हैं। कई दुकानदारों ने समान लाने के लिए माल वाहक गाड़ियों की अनुमति भी ली है। यद्यपि लोगों से ऊंची कीमत लिए जा रहे हैं। क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और राजनीतिक दल के नेताओं का कहना है कि थोक विक्रेताओं के दुकान और गोदाम की जांच करने से जमाखोरी का पर्दाफाश होगा। थोक विक्रेताओं ने अलग अलग जगहों पर समान छुपा कर रखा है।