फ र ज ग ध real name

करीब डेढ़ माह क‌र्फ्यू के दौरान सरकारी व निजी विभाग बंद होने के कारण जहां जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है, वहीं सरकार के राजस्व का भी भारी नुकसान हुआ है। शराब के ठेके खोलकर सरकार ने राजस्व इकट्ठा करने का प्रयास किया, लेकिन जिले में शराब के ठेके न खुलने के कारण सरकार का यह प्रयास सफल नहीं हुआ। अब सरकार ने जमीनों की रजिस्ट्रियां खोल दी है, लेकिन अभी दफ्तरों में रजिस्ट्रियां करवाने वालों की गिनती काफी कम है। जिले में आम दिनों में जहां पहले 200 से अधिक रजिस्ट्रियां हो जाती थी, वहीं अब यह गिनती कम होकर औसतन 50-60 तक थम गई है। इसका सीधा असर सरकार के खजाने पर पड़ रहा है। संगरूर के तहसील दफ्तर में सोमवार को रजिस्ट्रियां करवाने के लिए लोग पहुंचे, जहां दर्जन भर से अधिक रजिस्ट्रियां दिनभर में की गई। साथ ही लोगों की भीड़ को देख हुए दफ्तर में शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए खास प्रबंध किए गए हैं। एक समय में एक ही पार्टी की रजिस्ट्री का काम निपटारा जा रहा है, ताकि लोगों की भीड़ जमा न हो सके। रजिस्ट्रियों का काम आरंभ होने से लोगों ने भी राहत की सांस ली है। क‌र्फ्यू कारण देरी से हुई प्लाट की रजिस्ट्री