मेर मबइल क रचर्ज कब खत्म हग

महिला एवं बाल कल्याण विभाग ने कोरोना काल में अनाथ हुए 128 बच्चों की सूची में से 48 अभी भी सहायता पाने से वंचित हैं। अब इन बच्चों का घर-घर जाकर सत्यापन किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में इसकी जिम्मेदारी बीडीओ और शहरी क्षेत्र में एसडीएम संभाले हुए हैं। जिला प्रोबेशन अधिकारी डा. पल्लवी सिंह ने बताया कि योजना की श्रेणी में आने वाले शून्य से 10 साल के बच्चों के वैध संरक्षक के बैंक खाते में 4000 रुपये प्रतिमाह दिए जा रहे हैं।