क स न प ज यन bihar

संवाद सहयोगी, बाजपुर : जिला कलेक्ट्रेट न्यायालय द्वारा 20 गांवों व शहरी क्षेत्र की 5838 एकड़ भूमि की खरीद-फरोख्त पर लगाई रोक के आदेश वापस लेने की मांग को लेकर जारी बाजपुर बचाओ मुहिम के संयोजक जगतार सिंह बाजवा ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस बार भी अपने वादे पर खरा न उतरकर क्षेत्र के लोगों को निराश किया है और फिर से एक बार आश्वासन का झुनझुना दे दिया गया है, जिससे बाजपुर के लोगों का रक्षाबंधन का त्योहार फीका रह गया है। मुहिम के तहत सभी 20 गांव के लोग अब अपनी-अपनी धरोहर की सुरक्षा का संकल्प लेते हुए अपनी संपत्ति को रक्षा सूत्र बांध कर रक्षाबंधन का त्योहार मनाएंगे। उन्होंने बताया कि 20 गांव से मिट्टी एकत्र कर ली गई है और थाती कलश तैयार हो रहे हैं, अब आंदोलन को तेज किया जाएगा। सरकार की नीयत में खोट है, इस कारण आश्वासनों के बाद भी हजारों किसानों, मजदूरों व व्यापारियों की सुनवाई नहीं हो रही है। सरकार कोरोना महामारी का लाभ उठा रही है जिससे आंदोलन हेतु लोगों को घरों से निकलना मुश्किल हो रहा है, लेकिन अब लोगों का धैर्य जबाव दे रहा है, कभी लोगों का जनसैलाब सड़कों पर उतर सकता है, जो सरकार के लिए सिरदर्द बनेगा और थाती कलशों के साथ मुख्यमंत्री के निवास पर भी प्रदर्शन किया जाएगा। इस मौके पर सुनील पाठक, पूरन सिंह, पवन कुमार, राजकिशोर, प्रिसदास आदि मौजूद थे।