jammu cooperative bank recruitment

मधेपुरा। उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र की सभी पंचायतों के वार्ड ओडीएफ घोषित हो चुके हैं। लेकिन लोग आज भी खुले में शौच जाते हैं। अधिकांश लोगों को इस बात का पता नहीं है कि खुले में शौच करने से बीमारी या महामारी फैलती है। यह बीमारी मौत का कारण भी बन सकती है। प्रशासनिक दावा है कि शौचालय को लेकर लोगों को जागरूक किया गया है। यद्यपि हकीकत प्रशासनिक दावे की पोल खोल रहा है। वजह कि क्षेत्र के ग्रामीण इलाके हो या शहरी। मुख्यालय में हद तक व्यवस्था सुधरी है। लेकिन मुख्यालय से सटे और दूर दराज के टोले, मोहल्ले ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति नहीं सुधर पाया है। खासकर गरीब और मध्यमवर्गीय लोगों की सोच में बदलाव नहीं हुआ है। प्रशासन के दस्तावेज में शौचालय निर्माण की शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन उन दावों को क्या कहेंगे, जहां घरों से बाहर लोग शौच करने जा रहे हैं।