ibps rbi recruitment 2016 online apply

घग्गर के मुद्दे पर सांसद मान ने कहा कि मानसून का सीजन इस बार तय समय पर पूरे जोर से आ रहा है, जबकि घग्गर की मार से मूनक-खनौरी इलाके को बचाने के लिए पंजाब सरकार ने अभी तक एक फूटी कौड़ी भी जारी नहीं की है। गत दिवस उन्होंने घग्गर का दौरा किया तो एक्सईएन ड्रेनेज विभाग ने उन्हें बताया कि विभाग ने 2.47 करोड़ रुपये का एस्टीमेट बनाकर सरकार को भेजा गया था, लेकिन अभी तक सरकार ने कोई फंड जारी नहीं किया। लिहाजा इस बार फिर इलाके के लोगों पर घग्गर आफत बनकर आएगा। मान ने कहा कि मूनक के नजदीकी गांवों ने अपने तौर पर पैसे इकट्ठा करके तीन-चार किलोमीटर लंबा बांध मजबूत कर दिया है, जबकि सरकार व प्रशासन अभी तक केवल कागजों तक सीमित है। सरकार घग्गर का आतंक शुरू होने का इंतजार कर रही है। उन्होंने कहा कि इलाके के लोग अपने खेत व मकान बचाने के लिए दिन-रात घग्गर के किनारों को मजबूत करने मे जुटे हैं, जबकि प्रशासन की जेसीबी मशीनें फंडों का इंतजार कर रही हैं। वह यह मुद्दा केंद्रीय मंत्री के पास भी उठा चुके हैं व संसद में घग्गर के हल के लिए आवाज उठाते आ रहे हैं, जबकि राज्य सरकार इसके हल के लिए गंभीरता नहीं दिखा रही है। विभाग का दावा है कि 75 लाख रुपये का बांध बनाकर बाढ़ से बचा जा सकता है, जबकि गांव के किसानों का कहना है कि सरकार उन्हें 25 लाख रुपये का फंड मुहैया करवाएं, वह खुद घग्गर के पानी की मार का हल करने के लिए बांध बना देंगे। उन्होंने सरकार से मांग की कि सरकार जल्द से जल्द घग्गर के बांध मजबूत करने व बाढ़ से निपटने के लिए उक्त फंड मुहैया करवाए, ताकि इलाके के लोग बाढ़ की मार से बच सके।