गय weather in english

अपनी सेवानिवृत्ति के बाद से लेकर आजतक वे सिर्फ गोसेवा के कार्य में ही जुटे हुए हैं। बगल में थैला और पंजो तले साइकिल के पैडल मारते हुए वे हर उस गोशाला की सुध ले रहे हैं जहां किसी भी तरह की आवश्यकता है। सेवानिवृत्ति के बाद से लेकर आजतक अपनी पेंशन का 80 फीसद हिस्सा वे गोसेवा पर ही खर्च करते हैं। वर्तमान में भी हर माह 25 हजार रुपये गोसेवा में से निकालते हैं तथा बची हुई पेंशन की राशि से यज्ञ व अन्य पवित्र कार्य करते हैं।