cms recruitment 2017

संवाद सूत्र, सुनाम ऊधम सिंह वाला (संगरूर) : कोरोना संकट के कारण लंबे समय बाद भी केंद्र की मोदी सरकार सेहत सेवाओं के क्षेत्र में अफरा तफरी का माहौल बना रखा है। उक्त बात सीपीआइ एमएल लिब्रेशन के प्रदेश कमेटी सदस्य व मजदूर मुक्ति मोर्चा पंजाब जिला संगरूर के अध्यक्ष गोबिद सिंह छाजली ने किया। उन्होंने कहा कि राज्य व केंद्र सरकार की तरफ से जरूरी स्त्रोत मुहैया न करवाने की लगातार शिकायत करती आ रही है। इन हालत में कोई सुधार करने की बजाए, केंद्र सरकार ने कोरोना की जांच करने व इलाज करने के लिए अपने नियमों में तबदीली की है। इस तबदीली का मुख्य लक्ष्य कम लोगों की जांच करना व कम लोगों को अस्पतालों में दाखिल करवाना है। यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब देश में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए विश्व के सभी देश चीन, दक्षिणी कोरिया, क्यूबा, वियतनाम व भारत में केरला सरकार के सफल अनुभवों से सीख रहे हैं, परन्तु मोदी सरकार अपनी नाकामी को छिपाने के लिए इस युद्ध में सबसे अधिक असफल अमरीका व जर्मनी के अनुभवों को लागू करने की बात कर रही है। ऐसी स्थिति में जनता की चिता करने व अपनी आवाज बुलंद करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है।