बहर संस्कृत शक्ष बर्ड पटन रजल्ट २००८

संस, सहरसा : शहरी क्षेत्र में बढ़ रही अतिक्रमण की समस्या ने जिला प्रशासन और नगर परिषद की चिता बढ़ा दी है। शहर का कोई भी मोहल्ला या मुख्य सड़क ऐसा नहीं है, जहां सरकारी जमीन का अतिक्रमण न हुआ हो। धीरे-धीरे अतिक्रमण का दायरा बढ़ता जा रहा और खाली कराने के समय अतिक्रमणकारी आंदोलन के लिए गोलबंद होने लगते हैं।