अंकरवट मंदर कहँ स्थत है

गोकल गेट से लेकर मोती चौक तक, पुरानी सब्जी मंडी से भाड़ावास गेट तक, गुड़ बाजार से सर्राफा बाजार तक, नाईवाली चौक से कटला बाजार तक, जीवली बाजार से रेलवे रोड तक, पूरे सरकुलर रोड से ब्रास मार्केट तक, हर जगह भीड़ है। यह भीड़ ही भविष्य की उम्मीद है। हालांकि, सामान्य की तुलना में ग्राहकी कुछ कमजोर है, मगर बीते कल से आने वाले कल की ओर बढ़ती मांग से बाजार उठने की प्रबल संभावना है। किसी के पास अगर सामान्य की 30 फीसद बिक्री है तो किसी के पास 100 फीसद। औसत की बात करें तो अब बाजार को 60 फीसद ग्राहक मिल रहे हैं। दुकानदारों को हौसला निराशा को झटका देता दिख रहा है।