यूपएमएसप बर्ड

जासं, इलिया (चंदौली) : सैदूपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय प्रथम के परिसर में जाने वाले मुख्य गेट की छत वर्षों से क्षतिग्रस्त है। इससे कभी भी बड़ी हादसा हो सकता है लेकिन विभाग सहित जनप्रतिनिधि चुप्पी साधे हुए हैं। विद्यालय में स्थित प्राचीन भवन से भी दुर्घटना की आशंका बनी हुई है। हालांकि प्राचीन भवन में शिक्षण कार्य नहीं होता। प्राचीन भवन का निर्माण चार दशक पूर्व हुआ था। देखरेख के अभाव में उक्त भवन पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो चुका है,विभाग ने भी भवन को निष्प्रयोज्य घोषित कर दिया है। यही हाल मुख्य गेट का है। प्रतिदिन छात्र प्रवेश करते हैं। छत पूरी तरह से फट चुकी है। कभी भी धराशायी हो सकती है बावजूद विभाग बेखबर बना हुआ है। इसके चलते अभिभावक दहशतजदा हैं। अधिकांश बच्चे भोजनावकाश के समय जर्जर भवन में खेलने चले जाते हैं। कहीं खेलते समय ही इमारत बच्चों को हादसे का शिकार न बना दे। निष्प्रयोज्य घोषित भवन को ढहाने के लिए विभाग सुधि नहीं ले रहा है। इससे समस्या गंभीर हो गई है। प्रधानाध्यापक गफ्फार ने बताया कि मुख्य गेट के क्षतिग्रस्त होने व प्राचीन भवन को गिराने के बाबत उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है।