www wbhealth gov in group d recruitment

दरअसल, लॉकडाउन के चलते देश के अलग-अलग राज्यों से अब तक 25 लाख से ज्यादा प्रवासी कामगार यूपी लौट चुके हैं। इनमें ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों के रहने वाले हैं। वापस लौटे इन परिवारों में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जिनके पास रहने को अपना घर नहीं है। ऐसे में इन लोगों के सामने रहने की एक बड़ी समस्या है। ऐसे में उन्हें अब या तो अपने मूल गांव में ही किराए पर मकान लेना पड़ रहा है या फिर कच्चा मकान बनाकर रह रहे हैं। वहीं, ग्राम्य विकास आयुक्त के. रवींद्र नाईक ने बताया कि जिन आवासहीन प्रवासियों ने आवास प्लस योजना में पंजीकरण कराया है उन्हें आवास उपलब्ध कराया जाएगा।