uttar purvi railway recruitment

रोहतास। इंद्रपुरी बराज अब वर्षा पर आधारित हो गई है। ऊपरी जलग्रहण क्षेत्र में वर्षा होने पर ही यहां पानी छोड़ा जा रहा है। बराज पर पानी के अभाव में नहरें भी सूखी हुई हैं। जिससे किसानों को बिचड़ा डालने में परेशानी हो रही है। फिलवक्त इंद्र भगवान के भरोसे आठ जिलों की सिचाई व्यवस्था टिकी है। मध्य प्रदेश के वाणसागर जलाशय से आश्वासन के बाद भी बिहार के हिस्से का पानी नही छोड़े जाने से इंद्रपुरी बराज से नहरों में खरीफ फसलों के लिए पानी की आपूर्ति नगण्य हो गई है। नहरों में पानी की आपूर्ति बाधित होने से सोन कमांड के आठ जिलों में खरीफ फसलों के बीज तैयार करने को किसान परेशान हैं।