southern railway recruitment apply online

श्रीमद् भागवत कथा सुनाते हुए राधाकृष्ण महाराज ने कहा कि कथा तो सब सुनते हैं। परंतु कुछ लोग ही कथा के सच्चे पात्र होते हैं। सच्चे साधक में सबरी, विदुर, उद्धव जी जैसा भाव होना चाहिए। मन में यह भाव होना चाहिए कि हमारे नगर में कथा का आगमन नहीं हो रहा है। कथा के माध्यम से भगवान स्वयं आ रहे हैं। भागवत कथा अनमोल है। भागवत का प्रचार करना भी बड़ा पुण्य का कार्य है। भगवान की कथा में परिवार सहित आकर धर्म लाभ लेना चाहिए। श्रीमद् भागवत कथा का विस्तारपूर्वक वर्णन करते हुए कहा कि कथा कहां करना चाहिए, किसे कराना चाहिए, कथा तीर्थ में कराने का क्या लाभ है। बताया कि भागवत कथा सब मनोकामना को पूर्ण करती है।