संस्कृत शक्ष

उन्होंने लिखा कि देश की राजधानी में पिछले साल 450 नाबालिग लड़कियों के साथ बलात्कार किया गया। देश की आधी आबादी डर के साए में जी रही है। सबसे खराब तो यह है कि अब हम बुलंदशहर जैसी घटनाओँ से चौंकते नहीं हैं। उन्होंने आगे लिखा कि मैं मृत्यु दंड देने के खिलाफ रहा हूँ लेकिन आज मैं कहना चाहता हूँ कि बलात्कारी आतंकवादी होते हैं। इन्हें सरेआम मार देना चाहिए।