स्कूल टचर सेक्स फल्म

बख्तावरपुरवा गांव निवासी सलामुद्दीन, नईमुद्दीन, कुतुबुद्दीन व जाकिर का कहना है कि गांव में ग्राम समाज की भूमि पर सागौन के पांच पेड़ लगे थे। गांव के ही कुछ लोगों ने चोरी से रहे पेड़ों को काटकर बेच दिया। आरोपित दबंग किस्म के हैं और आए दिन जंगल की लकड़यिों को काट कर बेचते रहते हैं। इनका विरोध करो तो मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। हरियाली को बचाने के लिए अवैध कटान पर अंकुश लगाने की मांग की है।