scbacklog post recruitment

जागरण संवाददाता, रोहतक : लॉकडाउन में जब भी परिवार के सभी सदस्य घर पर रहे तो सभी ने मिलकर समय का सदुपयोग कर और घर की छत पर किचन गार्डन बनाया। जिससे अब घर के लिए भरपूर मात्रा में सब्जियां मिल रही है। यह कहना है कि जसवीर कॉलोनी डा. नरेंद्र हुड्डा का। कृषि विभाग के ब्लाक एग्रीकल्चर आफिसर डा. नरेंद्र बताते है कि उन्होंने हरी मिच, उन्होंने मिर्च, लौकी, तोरी, अरबी, टमाटर आदि सब्जियां किचन गार्डन में लगाई हैं। जिससे छत का स्वरूप भी हरा-भरा हो गया है और ताजा एवं ऑर्गेनिक सब्जियां भी खूब मिलती हैं। इसके अतिरिक्त उन्होंने छत पर पाम व दूसरे फलदार पौधे भी लगाए हैं। लॉकडाउन में परिवार के सदस्यों के इस प्रयास से न केवल घर आंगन बल्कि आसपास के वातावरण में भी शुद्ध हवा का संचार होता है। महामारी के इस दौर में शुद्ध ऑक्सीजन की उपलब्धता होना आवश्यक है। ऐसे में सभी को छतों का सदुपयोग करके सब्जियों आदि का उत्पादन करना चाहिए और आक्सीजन का स्तर बढ़ाने में भी योगदान देना चाहिए। उन्होंने बताया कि अगर हम घरों की छत का सदुपयोग पौधे व सब्जियां लगाने के लिए करें तो हमारी दैनिक ऑक्सीजन एवं इसके साथ साथ सब्जियों की आपूर्ति भी बनी रहेगी। इसके अलावा उन्होंने लान में भी विभिन्न प्रजातियों के पेड़-पौधे लगाए हुए हैं। जिनमें अमरूद, पपीता, आदि फलदार पौधों के अलावा अनेक फलदार व छायादार पौधे भी लगाए हुए हैं। वे दूसरों को छतों पर सब्जियां लगाकर उनका सदुपयोग करने के लिए प्रेरित करते हैं। इससे वे खुद भी लाभान्वित हो रहे हैं।