रेलवे रक्वयरमेंट 2019

अलीगढ़, जेएनएन । कोरोना से जंग जारी है। हम सब हर वह उपाय तलाश रहे हैं, जिससे जीत हमारी है। दो गज दूरी-मास्क जरूरी का संकल्प लगभग ले ही चुके हैं। कोविड 19 की इस गाइड लाइन का पालन कराने के लिए सरकार और प्रशासन भी प्रयासरत हैं। सामाजिक लोग भी लोगों को जागरुक कर रहे हैं। लेकिन, कोरोना को हराने के लिए और भी उपाय करने होंगे। ताकि आप स्वस्थ्य रहें। इम्युनिटी से हर संक्रमण का मुकाबला कर सकें। सबसे अधिक कोरोना का असर फेंफड़े पर बताया जा रहा है। संक्रमण से फेंफड़ों को सुरक्षित रखने के भी कई उपाय हैं। इनमें से एक हैै भाप। हालांकि, यह कोई नया उपाय नहीं। हमारे बुजुुर्ग करते हैं। बताते रहे और सीख भी देते रहे हैं। यही सीख अब अपनाने की जरूरत है। चिकित्सक इसकी सलाह दे रहे हैं। उनका कहना है कि दिन में दो या तीन  बार पांच मिनट भाप लेने से फेंफड़ों पर संक्रमण का अधिक असर नहीं होता। लेकिन, अधिक समय भाप लेना नुकसान दायक हो सकता है।