railway recruitment board 2019 tamil nadu

आ रा रा रा रा कबीरा सुनो भाई और भल्लो भांय के साथ सामाजिक रिश्ते-नातों को जोड़कर लगने वाली भौजाइयों के घरों के पास ढोल-मंजीरा झांझ बजाते निकलते फगुहारों की टोली रोचक और चुटीले मजाकिया अंदाज के स्लोगन से नवाजते हैं। कस्बा रामनगर में लखरौरा मुहल्ले से होली के दिन सुबह 10 बजे से धमाड़ निकलता है। धमेड़ी मुहल्ला होते हुए कादिराबाद में होकर रामनगर पुरानी बाजार के अंदर स्व. बैजू शाह मंदिर पर गाकर शाम करीब पांच बजे के बाद थाने पर पांडे बाबा की समाधि के सामने बैठकर फाग गाते हैं और सूर्यास्त के समय हनुमान मंदिर होते हुए राजा की कोठी पर लाल-गुलाल अबीर उड़ाते पहुंचते हैं। यहां राजा विजय सिंह, राजकुमार रत्नाकर सिंह गुझिया, चिप्स, पापड़, मिठाई, गुलाब, जल, इत्र पान आदि से नगरवासियों का स्वागत करते हैं। वहीं से होली के रंग खेलने का समापन हो जाता है।