railway cleark recruitment 2019

गांव नगवाई में कोई मजरा नहीं है। राजनीतिक ²ष्टि से देखें तो इस गांव में भी पार्टीबंदी खूब है। विकास कार्यों को लेकर आरोप-प्रत्यारोप लगते रहते हैं। ग्रामीणों की शिकायत है कि इस ग्राम पंचायत की उपेक्षा ही होती रही। कई बार शिकायतें की गईं कि हैंडपंप खराब पड़े हैं, जिन्हें ठीक कराया जाए, लेकिन इस ओर किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। कम से कम दस सोलर लाइन खराब पड़ीं हैं। सबसे बड़ी समस्या गांव में गंदगी की है। कई गलियां ऐसी दिखाई दीं, जिनमें कीचड़ व्याप्त था और नालियां भी टूटीं हुईं थीं। गांव के अंदर के मुख्य रास्ते भी अवरुद्ध देखने को मिले। एक दर्जन हैंडपंप गांव में खराब पड़े हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ सिर्फ लाभार्थियों को ही मिल पाया, जबकि आवास की दरकार दो दर्जन लोगों को है। कुछ ने आवेदन भी कर रखे हैं। हमने अपने कार्यकाल में हरसंभव तरीके से विकास कराने की कोशिश की, लेकिन जितना धन हमें मिलना चाहिए था उतना नहीं मिली। विभिन्न योजनाएं आईं तो धनराशि की मांग की मगर इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। उच्च प्राथमिक विद्यालय व प्राथमिक विद्यालय में निर्माण कार्य कराए गए। इसके अलावा आधा दर्जन सड़कों का निर्माण भी कराया और नलों की मरम्मत भी कराई। पंचायत भवन के लिए धनराशि उपलब्ध नहीं हो पाई तथा विवाद भी हो गया था। इस कारण निर्माण नहीं हो पाया।